Press "Enter" to skip to content

देश में कोरोना संक्रमण रिकॉर्ड 1.84 लाख तक पहुंच गया है

राष्ट्रीय खबर

कोलकाता : देश में चल रहे कोरोना संकट ने हलचल पैदा कर दी है। हालात इस हद तक

बदतर हो गए हैं कि हर राज्य में स्वास्थ्य केंद्र खुल गए हैं। चाहे दिल्ली हो या यूपी,

झारखंड हो या महाराष्ट्र या फिर मध्य प्रदेश, हर जगह यही तस्वीर सामने आ रही है। एक

तरफ अस्पताल के बाहर मरीजों की कतारें हैं जो इलाज चाहते हैं । दूसरी ओर श्मशान के

बाहर शवों की कतारें लगी हुई हैं, जो इनसे छुटकारा पाना चाहते हैं। लेकिन दोनों जगहों

पर कोई व्यवस्था नहीं है। जैसे-जैसे दिन बीतते जाते हैं, कोरोनावायरस की चिंताएं बढ़

जाती हैं। – इस बार देश में रोजाना संक्रमण बढ़कर 1.84 लाख हो गया है कोरोना में मरने

वालों की संख्या भी एक हजार को पार कर गई है। प्रदेश में भी कोरोना माथे पर झुक गया

है देश में फिर से अपना रिकॉर्ड न तोड़ें वायरस। 1.84 372 लोग पिछले 24 घंटे में प्रभावित

हुए हैं यह अब तक का सबसे ज्यादा रोजाना संक्रमण है। – नतीजतन देश में संक्रमण की

कुल संख्या बढ़कर 1.84 करोड़ से ज्यादा हो गई है ।

लगातार चार रोजाना संक्रमण 1.5 लाख  से ऊपर रहे

24 घंटे में कोरोना की कुर्बानी एक और 1027 है। – पिछले 6 महीनों में कोरोना

में मरने वालों की संख्या सबसे ज्यादा है कोरोना में मरने वालों की संख्या बढ़कर 172,085

हो गई है अब तक देश भर में 1,111,79,578 लोगों को टीका लगाया जा चुका है। – राज्य में

कोविद-19 का रोजाना संक्रमण भी करीब 5,000 को छू चुका है। मौतों की संख्या भी बहुत

तेजी से बढ़ रही है । इतना ही नहीं। राज्य में पिछले साल जीका वायरस के सबसे ज्यादा

रोजाना संक्रमण का रिकॉर्ड पहले ही टूट चुका है। दूसरी ओर कोविद से पीड़ित मरीजों के

इलाज के लिए विभिन्न सरकारी व निजी अस्पतालों में भी बेड का संकट चल रहा है। ऐसी

स्थिति के बीच स्वास्थ्य विभाग ने प्रदेश के सरकारी अस्पतालों की संख्या में फिलहाल

करीब 1500 बेड की बढ़ोतरी करने का निर्णय लिया है। विभिन्न निजी अस्पतालों में भी 

बेड बढ़ाने को कहा गया है। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि पिछले 24 घंटों में राज्य में

4,817 लोग कोविड-19 से प्रभावित हुए हैं। अन्य 20 लोगों की मौत कोविड से हुई । 12

अप्रैल को प्रदेश में कोविड-19 में रोजाना होने वाली मौतों और मौतों की संख्या क्रमश

4,511 और 14 थी। 11 अप्रैल को पीड़ितों और मौतों की संख्या क्रमश ४,३९८ और 10 थी ।

देश में पिछले साल 22 अक्टूबर को सबसे ज्यादा रोजाना संक्रमण हुआ था।

उस दिन राज्य में 4,157 लोग कोविड से प्रभावित हुए थे। राज्य में इस साल 11 अप्रैल को

पिछले साल के कोविड-19 के लिए सबसे ज्यादा दैनिक संक्रमण रिकॉर्ड पार कर गया है ।

कोरोनावायरस की दूसरी लहर के कारण राज्य में संक्रमण और मौतों की संख्या भी बढ़

रही है। इस स्थिति में स्वास्थ्य विभाग ने कोविड-19 मरीजों के लिए प्रदेश के विभिन्न

सरकारी और निजी अस्पतालों में बेड बढ़ाने को कहा है। कॉविड-19 मरीजों के लिए प्रदेश

के विभिन्न सरकारी अस्पतालों में फिलहाल बेड की संख्या 1,464 तक बढ़ाने को कहा

गया है। कोविद- 19 मरीजों के लिए अलग वार्ड सरकारी अस्पतालों में पिछले साल

कोविद-19 मरीजों के लिए अलग वार्ड नहीं था।

Spread the love
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पश्चिम बंगालMore posts in पश्चिम बंगाल »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

Be First to Comment

... ... ...