fbpx Press "Enter" to skip to content

कोरोना के कहर से दुनिया भर के शेयर बाजार धड़ाम

मुंबईः कोरोना के कहर से अब दुनिया का शेयर बाजार भी गंभीर रुप से बीमार पड़ने लगा

है। वायरस के संक्रमण के दुनिया के करीब 150 देशों में फैलने और फिलहाल इससे राहत

की उम्मीद नहीं दिखने के कारण बने दबाव से सोमवार को भी घरेलू शेयर बाजार में अब

तक की दूसरी बड़ी गिरावट दर्ज की गयी। बीएसई का सेंसेक्स 2731 अंक और नेशनल

स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 757.80 अंक टूट गया जिससे निवेशकों के 7.62

लाख करोड़ रुपये से डूब गये। कोरोना के कहर से अर्थव्यवस्था को बचाने के उद्देश्य से

केन्द्रीय बैंकों द्वारा नीतिगत दरों में की जा रही कटौती भी काम नहीं कर रहा है। अमेरिकी

फेडरल रिजर्व ने इस महीने की अपनी दूसरी आपात बैठक में नीतिगत ब्याज दरों में एक

फीसदी की कटौती कर इसे शून्य से 0.25 प्रतिशत करने का फैसला किया। इससे पहले 03

मार्च को उसने ब्याज दर में आधा फीसदी कटौती कर इसे एक से 1.25 प्रतिशत कर दिया

था। फेडरल रिजर्व के इस फैसले से अमेरिकी बाजार आज हरे निशान में रहे लेकिन यूरोप

और एशिया के सभी सूचकांक लाल निशान में रहे।

कोरोना के कहर के पहले से ही सेंसेक्स डांवाडोल

बीएसई का सेंसेक्स गत गुरूवार की सबसे बड़ी गिरावट के बाद आज फिर से दूसरी बड़ी

गिरावट लेकर बंद हुआ। गुरूवार को घरेलू स्तर पर सेंसेक्स 2,919.26 अंक यानी 8.18

प्रतिशत का और निफ्टी 868.25 अंक यानी 8.30 प्रतिशत को गोता लगाया था। आज

सेंसेक्स 2731.41 अंक टूटकर 31390.07 अंक पर और निफ्टी 757.80 अंक फिसलकर

9197.40 अंक पर आ गया। इस भारी गिरावट की वजह से निवेशकों के 7.62 लाख करोड़

रुपये डूब गये। बीएसई का बाजार पूंजीकरण शुक्रवार को 12926242.82 करोड़ रुपये रहा

था जो आज 762290.23 करोड़ रुपये घटकर 12163952.59 करोड़ रुपये पर आ गया। यस

बैंक पर लगी रोक हटने की घोषणा से बाजार में गर्मी आने की उम्मीद बंधी थी। इससे

पहले तेल की कीमतों में अंतर्राष्ट्रीय बाजार में आयी गिरावट का भी बाजार पर असर पड़ा

था। इस बीच पूरी दुनिया के शेयर बाजारों पर कोरोना के कहर का प्रभाव नजर आने के

बाद सभी शेयर बाजार एक एक कर नीचे आते चले गये।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from देशMore posts in देश »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »

3 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!