Press "Enter" to skip to content

खाना बनाने की बड़ी कड़ाही में बैठकर शादी करने पहुंचे दुल्हा दुल्हन




राष्ट्रीय खबर

तिरुअनंतपुरमः खाना बनाने की बड़ी कड़ाही सिर्फ भोजन पकाने के काम ही नहीं आती है, यह पहली बार पता चला। केरल में आयी भीषण बाढ़ के दौरान खाना बनाने की यह कड़ाही दुल्हा और दुल्हन के लिए नाव के तौर पर इस्तेमाल की गयी। सोशल मीडिया में इसका एक वीडियो भी वायरल हुआ है।




देखिये वह वायरल वीडियो

जिसमें शादी करने जाते दोनों दुल्हा और दुल्हन इस खाना बनाने की कड़ाही में बैठे हुए हैं। बता दें कि बेमौसम भीषण बारिश और भूस्खलन की वजह से केरल के अलग अलग इलाकों को मिलाकर 27 लोग मारे गये हैं।

वहां के सबसे ऊंचे इडूकी डैम पर अत्यधिक पानी आने की वजह से उस पर निरंतर निगरानी की जा रही है ताकि खतरा होते ही डैम के गेट खोले जा सकें।

वैसे डैम का गेट खोलने पर निचले इलाकों में फिर से पानी भर जाने का खतरा भी है। इसके बीच ही अल्युमिनियम की बनी खाना बनाने की बड़ी कड़ाही ही शादी के लिए पहुंचने का एक मात्र साधन के तौर पर फिल्माया गया है।




थालावाडी इलाके के मंदिर में यह शादी तय की गयी थी क्योंकि अन्य सारे इलाके पानी में डूबे हुए थे। यह मंदिर ऊंचाई में होने की वजह से पानी में नहीं डूबा था।

वहां तक दुल्हा दुल्हन को नये वस्त्र में सही तरीके से पहुंचाने के लिए इस बड़ी कड़ाही का इस्तेमाल किया गया जो दरअसल खाना बनाने के काम आती है। इसपर बैठकर दुल्हा दुल्हन को अन्य लोग खींचकर मंदिर तक ले जाते देखे गये हैं।

खाना बनाने की कडाही के नाव का वीडियो वायरल

सोशल मीडिया में वायरस इस वीडियो में यह भी नजर आ रहा है कि इस शादी के लिए काम में लगा फोटोग्राफर ही खाना बनाने की इस कड़ाही को सामने से खींचकर ले जा रहा है।

शादी संपन्न होने के बाद दुल्हे ने स्थानीय पत्रकारों को बताया कि मौसम ऐसा बिगड़ जाएगा, इसकी कल्पना भी नहीं की थी। फिर भी हम समय पर ही शादी करने के लिए अड़े हुए थे।

इसी लिए सोच समझकर लोगों ने खाना बनाने की कड़ाही को ही नाव के तौर पर इस्तेमाल कर हमें मंदिर तक पहुंचाया। इस तरीके से जिनलोगों की शादी हुई है उनके नाम आकाश और ऐश्वर्या हैं। दोनों ही चेंगानानूर के अस्पताल में स्वास्थ्य कर्मी के पद पर कार्यरत हैं।



More from HomeMore posts in Home »
More from एक्सक्लूसिवMore posts in एक्सक्लूसिव »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from धर्मMore posts in धर्म »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: