Press "Enter" to skip to content

कांग्रेस पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए महागठबंधन बनाएगी




राहुल गांधी फिर से कांग्रेस अध्यक्ष होंगेः जीतेंद्र सिंह
एकजुट विपक्ष ही भाजपा को चुनौती दे सकता है
आलाकमान ने हार जीत की रिपोर्ट मांगी है
कांग्रेस महासचिव ने प्रेस कांफ्रेंस में कही बात

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी : कांग्रेस पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुट गई है। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मणिपुर, पंजाब और गोवा में अगले साल की शुरुआत में मतदान होने जा रहा है।




कांग्रेस ने भाजपा विरोधी दलों से बातचीत शुरू कर दी है। कांग्रेस महासचिव जितेंद्र सिंह ने आज गुवाहाटी में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि कांग्रेस पार्टी ने आगामी चुनावों के लिए भाजपा को चुनौती देने के लिए राज्यों के क्षेत्रीय दलों के साथ-साथ भाजपा विरोधी राष्ट्रीय दलों के साथ महागठबंधन की तैयारी कर ली है।

अखिल भारतीय कांग्रेस पार्टी के महासचिव ने यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर में अगले साल की शुरुआत में चुनाव होने हैं ।

उसे पंजाब में भाजपा को छोड़कर बाकी चार राज्यों में अपनी सरकार बचाने के लिए लड़ना है, जहां कांग्रेस की सरकार सत्ता में है।

अखिल भारतीय कांग्रेस पार्टी के महासचिव ने कहा कि पहले ही पार्टी हाईकमान ने फैसला किया है कि आगामी विधानसभा चुनाव 2022 के लिए कांग्रेस महागठबंधन बनाएगी।

उन्होंने कहा कि अब पांच राज्यों के चुनावों में केवल एकजुट विपक्ष ही भाजपा को चुनौती दे सकता है । इस बीच , लोकसभा की तीन और विधानसभा की 30 सीटों पर हुए उपचुनाव के परिणामों के बाद कांग्रेस अब आगे की रणनीति बनाने में जुट गई है।




उपचुनावों के परिणाम के मद्देनजर कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने सभी चुनावी राज्यों के प्रभारी और राज्य के प्रदेश अध्यक्षों से पार्टी की हार और जीत की समीक्षा रिपोर्ट मांगी है। कांग्रेस पार्टी ने चुनावी राज्यों के प्रभारी व अध्यक्ष से आठ बिंदुओं पर हार व जीत की समीक्षा रिपोर्ट मांगी गई है।

कांग्रेस पांच राज्यों पर समीक्षा रिपोर्ट का अध्ययन करेगी

ये आठ बिंदू हैं- उपचुनाव के कारण, उम्मीदवारों का चयन, अभियान और रणनीति, गठबंधन का प्रभाव, अन्य विपक्षी दलों का प्रभाव, उपचुनाव के परिणाम का उस राज्य की राजनीति पर प्रभाव, कांग्रेस के चुनाव परिणामों की समीक्षा और चुनाव परिणामों का कोई अन्य कारण (यदि कोई हो)।

माना जा रहा है कि इस रिपोर्ट के आधार पर कांग्रेस पार्टी समीक्षा करेगी और आगे की रणनीति तैयार करेगी।

दूसरी ओर राहुल गांधी को एक बार फिर कांग्रेस अध्यक्ष पद की कमान मिलेगी। पार्टी के महासचिव की जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए अगले साल में चुनाव कराए जाएंगे।

अशोक गहलोत के साथ सभी वरिष्ठ नेता ने कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए राहुल गांधी के नाम का प्रस्ताव रखा था जिस पर जी-23 नेताओं सहित सभी सदस्यों ने सहमति जताई थी।

राहुल गांधी ने अध्यक्ष बनाए जाने वाले प्रस्ताव पर विचार करने को कहा है। उन्होंने कहा कि अब जमीनी स्तर के कार्यकर्ता की मांग पर युवराज राहुल गांधी कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष बनने के लिए मानसिक रूप से तैयार हो गए हैं।



More from HomeMore posts in Home »
More from असमMore posts in असम »
More from एक्सक्लूसिवMore posts in एक्सक्लूसिव »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

One Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.
%d bloggers like this: