fbpx Press "Enter" to skip to content

किसान विरोधी अध्यादेशों को लेकर कांग्रेस का प्रदेश स्तरीय आंदोलन

  • डॉ रामेश्वर उरांव की अध्यक्षता में हुई बैठक में कार्यक्रम तय

  • कई मंत्री भी बैठक में उपस्थित थे

  • 28 सितंबर को राज्यपाल को ज्ञापन

  • किसान मजदूर बचाओ दिवस 2 को

रांचीः किसान विरोधी अध्यादेशों को लेकर झारखंड में भी वृहद पैमाने पर आंदोलन की

तैयारी कांग्रेस के द्वारा की जा रही है। झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष सह मंत्री

डॉ रामेश्वर उरांव की अध्यक्षता में आज कांग्रेस भवन, रांची में प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष,

जोनल-को-ऑर्डिनेटर्स की बैठक हुई। बैठक में मुख्य रूप से कांग्रेस विधायक दल के नेता

आलमगीर आलम, स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, कृषि मंत्री बादल पत्रलेख, कार्यकारी

अध्यक्ष सर्वश्री केशव महतो कमलेश, डॉ इरफान अंसारी, मानस सिन्हा, संजय लाल

पासवान, जोनल कोआर्डिनेटर रमा खलखो, अशोक चौधरी, सुल्तान अहमद, भीम कुमार

एवं संगठन प्रभारी रवीन्द्र सिंह उपस्थित थे। बैठक में मुख्य रूप से अखिल भारतीय

कांग्रेस कमिटी द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुसार विभिन्न कार्यक्रम तय किये गये,

जिसमें मुख्य रूप से केन्द्र सरकार द्वारा किसान विरोधी अध्यादेशों के विरूद्ध

जनआंदोलन चलाने का निर्णय लिया गया। यह आंदोलन 28 सितंबर से प्रारंभ होकर 31

अक्टूबर 2020 तक विभिन्न चरणों में पूरा किये जाने का निर्णय लिया गया। प्रदेश कांग्रेस

कमिटी के प्रवक्ता डॉ एम तौसीफ ने बताया कि बैठक में निर्णय लिया गया कि 25

सितंबर 2020 को प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्षगण, जोनल को-ऑर्डिनेटरगण एवं

प्रवक्तागण झारखंड के सभी जिलों में केन्द्र सरकार द्वारा लिये गये किसान विरोध

विधेयक के संदर्भ में प्रेसवार्ता करेंगे। 28 सितंबर 2020 को प्रदेश मुख्यालय, कांग्रेस भवन,

रांची में पूर्वाह्न 11.30 बजे से महात्मा गांधी की प्रतिमा, मोरहाबादी से एक पदयात्रा प्रारंभ

कर महामहिम राज्यपाल महोदया को समर्पित किया जाएगा। इस कार्यक्रम में प्रदेश

कांग्रेस अध्यक्ष, नेता कांग्रेस विधायक दल, सभी कार्यकारी अध्यक्ष, जोनल को-

ऑर्डिनेटर्स, माननीय सांसद, विधायक, पूर्व सांसद, पूर्व विधायक, अग्रणी मोर्चा के प्रदेश

अध्यक्ष एवं प्रदेश के सभी वरिष्ठ कांग्रेसजन अनिवार्य रूप से सम्मिलित होंगे।

किसान विरोधी अध्यादेशों पर कई कार्यक्रम होंगे

आगामी 02 अक्टूबर 2020 को महात्मा गांधी एवं लाल बहादूर शास्त्री जी के जयंती के

अवसर पर पार्टी ने किसान-मजदूर बचाव दिवस मनाने का निर्णय लिया है, जिसके तहत

जिला मुख्यालय/विधानसभा मुख्यालय/अनुमंडल मुख्यालयों पर जिला कांग्रेस/प्रखंड

कांग्रेस द्वारा धरना/पदयात्रा कार्यक्रम किया जाएगा, जिसमें उस जिले के सभी विधायक/

सांसद/पूर्व सांसद, पूर्व विधायक, प्रदेश के वरिष्ठ नेता सम्मिलित होंगे। 10 अक्टूबर 2020

को प्रदेश कांग्रेस कमिटी द्वारा राज्यस्तरीय किसान सम्मेलन आयोजित करने का

निर्णय लिया गया है। 02 अक्टूबर से 31 अक्टूबर 2020- हस्ताक्षर अभियान-झारखंड

राज्य के पंचायत, प्रखंड एवं सभी क्षेत्रों में केन्द्र सरकार द्वारा लाये गये विधेयक के विरूद्ध

हस्ताक्षर अभियान चलाने का निर्णय लिया गया, जिसमें किसानों, खेत मजदूरों, किसान-

मंडी के दुकानदारों, मंडी के मजदूरों एवं एपीएमसी के विविध कर्मचारियों से हस्ताक्षर

करवायी जाएगी। हर जिले में हस्ताक्षर का लक्ष्य निर्धारित कर उसे पूरा करने की

जिम्मेदारी जिले से पंचायत तक के पार्टी के कार्यकर्ताओं को दी जाएगी। संकलित

हस्ताक्षरों को नवंबर के प्रथम सप्ताह तक प्रदेश कंाग्रेस कार्यालय में जमा किया

जाएगा। पूरे प्रदेश से जमा किये गये हस्ताक्षरों को 14 नवंबर 2020 तक अखिल भारतीय

कांग्रेस कमिटी को समर्पित किया जाएगा। डॉ तौसीफ ने बताया कि प्रत्येक कार्यक्रम के

लिए जिला, विधानसभा एवं प्रखंड स्तरीय कार्यक्रम पर्यवेक्षक नियुक्त करने का निर्णय

लिया गया है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

Be First to Comment

Leave a Reply