fbpx Press "Enter" to skip to content

लालू को लेकर भाजपा के बयानों की कांग्रेस प्रवक्ताओं ने निंदा की

रांची: लालू को लेकर झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे एवं डॉ

राजेश गुप्ता छोटू ने राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री लालू प्रसाद यादव

को रिम्स के पेइंग वार्ड से निदेशक के बांग्ला में शिफ्ट किए जाने के निर्णय का स्वागत

किया है। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दुबे एवं डा राजेश गुप्ता ने कहा कि कोरोना

संक्रमण के बढ़ते प्रभाव और लालू प्रसाद की सुरक्षा को लेकर रिम्स प्रबंधन के आग्रह पर

जेल प्रशासन द्वारा उठाया गया कदम सराहनीय है । उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर भाजपा

नेताओं द्वारा की जा रही बयानबाजी दुर्भाग्यपूर्ण और दुखद है। उन्होंने कहा कि भारतीय

संस्कृति की यह परंपरा है कि जब भी कोई व्यक्ति बीमार होता है या फिर किसी संकट में

पड़ता है तो समाज के सभी लोगों की सहानुभूति और सहयोग पीड़ित व्यक्ति के साथ

होती है। यही कारण है कि पिछले दिनों जब भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश

अस्पताल में भर्ती हुए थे तो पक्ष विपक्ष के सारे लोग उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना

कर रहे थे वहीं भाजपा के लोग लालू प्रसाद यादव जी के स्वास्थ्य को लेकर जिस प्रकार के

अलंकारों से अलंकृत कर रही है शायद 70 वर्षों में प्रतिशोध एवं घटिया राजनीति इस देश

में पहले कभी नहीं हुई है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ताओं ने कहा कि भाजपा के नेता

भले ही अपने नेतृत्व करता रहे लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी जैसे

नेताओं को भूल सकती हैं लेकिन कांग्रेस पार्टी अपनी परंपरा और सिद्धांतों से पीछे नहीं हट

सकती है।

लालू को लेकर जेल प्रशासन द्वारा उठाया गया कदम सराहनीय

उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद यादव सिर्फ आरजेडी के अध्यक्ष नहीं है बल्कि वह एकीकृत

बिहार के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं ऐसी स्थिति में राज्य सरकार का यह कर्तव्य और

दायित्व बनता है कि उन्हें हर संभव सुविधा उपलब्ध कराई जा सके।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from नेताMore posts in नेता »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

Be First to Comment

Leave a Reply