fbpx Press "Enter" to skip to content

राजस्थान में कांग्रेस को फिर से सत्ता पलट की आशंका

  • कोरोना संकट भूलकर भाजपा कर रही साजिश

  •  

    प्रेस कांफ्रेंस कर मुख्यमंत्री ने लगाया आरोप

  •  

    भाजपा के तीन नेताओं का नाम लिया

जयपुरः राजस्थान में कांग्रेस को अपनी सत्ता चले जाने का भय सता रहा है। खुद

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस बारे में भाजपा पर बड़ा आरोप लगाया है। आरोप लगाने

वालों में श्री गहलोत के कुछ समर्थक कांग्रेस विधायक भी हैं। इनलोगों का कहना है कि

भाजपा यहां की राज्य सरकार को अस्थिर करने की साजिशें रच रही है। यहां भी

मध्यप्रदेश की तर्ज पर विधायकों को प्रलोभन दिये जा रहे हैं ताकि कांग्रेस की सरकार को

गिराया जा सके।

यह मामला इसलिए भी गंभीर हो गया है क्योंकि राजस्थान पुलिस की विशेष ऑपरेशन

शाखा ने खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट से अपना

अपना बयान दर्ज कराने को कहा है। इससे साफ हो गया है कि पुलिस में भी इस मामले को

लेकर जांच चल रही है। पुलिस की एजेंसी ने राज्य कांग्रेस के मुख्य व्हीप महेश जोशी को

भी अपना बयान दर्ज कराने को कहा है। दरअसल दो लोगों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस

की एसओजी सक्रिय हो गयी है। इन दो लोगों को हार्स ट्रेडिंग में लिप्त होने के आरोप में

पकड़ा गया है। जांच एजेंसी का कहना है कि अब तक जो साक्ष्य मिले हैं, उसके आधार पर

एक दर्जन से अधिक विधायकों सहित अन्य लोगों को भी नोटिस जारी किया जाएगा।

इधर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक प्रेस कांफ्रेंस कर यह आरोप लगाया है कि भाजपा

इस संकट के दौर में भी सत्ता हथियाने का गंदा खेल, खेल रही है। लेकिन वह यह कहना

भी नहीं भूले कि उनकी सरकार अपने पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी। श्री गहलोत का

आरोप है कि विपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया, उप नेता राजेंद्र राठौर और राज्य भाजपा

अध्यक्ष सतीश पुनिया ही इस साजिश को अंजाम दे रहे हैं।

राजस्थान भाजपा की तरफ से विशेषाधिकार हनन का नोटिस

उधर भाजपा ने कांग्रेस मुख्यमंत्री के इस आरोप के बाद विशेषाधिकार हनन का नोटिस

राजस्थान विधानसभा में दिया है। भाजपा की तरफ से विधायक रामलाल शर्मा, अशोक

लाहोटी और मदन दिलावर ने विधानसभा के सचिव प्रमील माथुर को यह नोटिस थमाया

है। इस नोटिस के माध्यम से कहा गया है कि मुख्यमंत्री ने ऐसा आरोप लगाकर उनकी

छवि धूमिल करने का प्रयास किया है। विधानसभा में विपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया

ने कहा कि अब यह विधानसभा सचिवालय पर निर्भर है कि वह इस पर क्या कार्रवाई

करती है। इसके पहले निर्दलीय विधायक संयम लोधा ने भी भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और

विधायक सतीश पुनिया पर विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया था, जिसमें कहा गया था

कि भाजपा की तरफ से राज्य के 23 निर्दलीय विधायकों की छवि खराब करने की कोशिश

की गयी है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

2 Comments

  1. […] राजस्थान में कांग्रेस को फिर से सत्ता … कोरोना संकट भूलकर भाजपा कर रही साजिश   प्रेस कांफ्रेंस कर मुख्यमंत्री ने लगाया आरोप   भाजपा के तीन … […]

Leave a Reply

error: Content is protected !!