fbpx Press "Enter" to skip to content

कांग्रेस ने फिर दोहरायी मांग कि राफेल विमान की कीमत बताए सरकार

नयी दिल्ली: कांग्रेस ने फिर राफेल की कीमत का मुद्दा उठा दिया है। फ्रांस से पांच राफेल

विमानों की पहली खेप देश में पहुंचने के बीच  ने एक बार फिर इसकी कीमत को

सार्वजनिक करने की मांग की है। कांग्रेस महासचिव एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री

दिग्विजय सिंह ने बुधवार को ट्वीट कर कहा, “एक राफेल की कीमत कांग्रेस सरकार ने

746 करोड़ रुपये तय की थी लेकिन ‘‘चौकीदार’’ महोदय कई बार संसद में और संसद के

बाहर भी मांग करने के बावजूद आज तक एक राफेल कितने में खरीदा है, बताने से बच रहे

हैं। क्यों? क्योंकि चौकीदार जी की चोरी उजागर हो जायेगी!! ‘‘चौकीदार’’ जी अब तो

उसकी कीमत बता दें।” वर्ष 2019 के आम चुनाव में राफेल की कीमत का मुद्दा कांग्रेस ने

जोरशोर से उठाया था। यहां तक कि यह मामला उच्चतम न्यायालय में भी पहुंचा था।

कांग्रेस सांसद ने कहा,” आखिर राफेल फाइटर प्लेन आ गया। 126 राफेल खरीदने के लिए

कांग्रेस के नेतृत्व में संप्रग ने 2012 में फैसला लिया था और 18 राफेल को छोड़कर बाकी

भारत सरकार की हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड में निर्माण का प्रावधान था।

कांग्रेस ने फिर से पुराने सवाल हो दोहराये

यह  भारत के आत्मनिर्भर होने का प्रमाण था। एक राफेल की कीमत 746 करोड़ तय की

गई थी।” श्री सिंह ने आगे लिखा,” मोदी सरकार आने के बाद फ्रांस के साथ मोदी जी ने

बिना रक्षा व वित्त मंत्रालय व कैबिनेट कमेटी की मंजरी के नया समझौता कर लिया

और हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड का हक मार कर निजी कम्पनी को देने का

समझौता कर लिया। राष्ट्रीय सुरक्षा की अनदेखी कर 126 राफेल खरीदने के बजाय केवल

36 खरीदने का निर्णय ले लिया।” यह विमान फ्रांस से उड़कर आज दोपहल अंबाला

एयरबेस पर पहुंचे हैं। रास्ते में हवा में ही उनमें ईंधन भी भरा गया है।


 

 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!