Press "Enter" to skip to content

इक्वाडोर के जेल में फिर संघर्ष 68 से अधिक मरे




क्वीटोः इक्वाडोर के जेल में फिर से संघर्ष हुआ है। इस बार की लड़ाई में भी 68 से अधिक लोग मारे




गये हैं जबकि एक दर्जन लोग घायल हुए हैं। इक्वाडोर के इसी जेल में पिछले महीने भी संघर्ष हुआ

था, जिसमें एक सौ से अधिक लोग मारे गये थे। एक महीने के भीतर वहां दूसरी बार गुट संघर्ष को

गंभीर माना जा रहा है। देश के एक ही जेल में लगातार दो बार ऐसे हिंसक संघर्ष को लेकर सवाल

उठने लगे हैं। वैसे लिटोरल पेनिटियारी के इस जेल में हुई लड़ाई की पुष्टि गुआयास के गवर्नर पाब्लो

एरिसीमा ने कर दी है। विलंब से मिली जानकारी के मुताबिक शुक्रवार की रात को ही जेल के भीतर

से गोली चलने की आवाज आयी थी। शनिवार को यह लड़ाई भयानक हो गयी। इसकी वजह से

सुरक्षाकर्मियों को भी जेल के अंदर प्रवेश करने में काफी वक्त गा। जेल में बंद कैदियों के गुटों के बीच

यह संघर्ष हुआ था लेकिन असली सवाल यह खड़ा हो गया है कि एक महीने के भीतर वहां फिर से

इतने हथियार कैसे पहुंचाये गये। इस साल इसी एक जेल में बार बार अपराधी गुटों की बीच होने




वाली लड़ाइयों में अब तक तीन सौ से अधिक लोग मारे जा चुके हैं। इनमें से पांच लोगो की गरदन

भी काट दी गयी थी। जेल के अंदर विस्फोट कर अपने दुश्मनों को मारने की घटनाएं भी हुई है। बार

बार जेल के अंदर हथियार कैसे पहुंच रहे हैं, यह जेल की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े कर चुका है।

इक्वाडोर के जेल में इतने हथियार कैसे बड़ा सवाल

इस बार भी इक्वाडोर के जेल में हुए जानलेवा संघर्ष के बाद फिर से आपात स्थिति की घोषणा कर दी

गयी है। वैसे इस बीच यह खबर भी छनकर बाहर आयी है कि इस जेल में क्षमता से बहुत अधिक

कैदियों को रखे जाने की वजह से भी सुरक्षा जांच में अक्सर लापरवाही बरती जाती है। देश के इस

सबसे बड़े जेल के कैदियों की निर्धारित क्षमता पांच हजार है जबकि वहां नौ हजार से अधिक कैदी

रखे जाते हैं। दूसरी खबर यह भी है कि जेल के अंदर अत्याधुनिक हथियार होने की वजह से वहां

तैनात सुरक्षाकर्मी भी सही तरीके से जांच करने से डरते हैं। इसी वजह से वहां हथियारों के अलावा

पिछले महीने ग्रेनेड विस्फोट भी हो चुका है।



More from अपराधMore posts in अपराध »
More from मैक्सिकोMore posts in मैक्सिको »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: