fbpx Press "Enter" to skip to content

आने वाले 4 वर्षों में 24 लाख लोगों को कृषि कार्य से जोड़ने का लक्ष्य

  • किसानों को आत्मनिर्भर बनाना प्राथमिकताः बादल पत्रलेख

राष्ट्रीय खबर

रांचीः आने वाले 4 वर्षों में 24 लाख लोगों को कृषि कार्य से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है।

सरकार का उद्देश्य है कि इन 24 लाख लोगों को खेतीबाड़ी से जोड़कर उनकी आर्थिक

स्थिति को सुदृढ़ किया जाए और इस लक्ष्य को पूरा करने में पशुपालन विभाग की

महत्वपूर्ण भूमिका होगी। लोगों को खेती के साथ-साथ पशुपालन के लिए भी प्रोत्साहित

किया जाए इस दिशा में कार्य किया जा रहा है। मुख्यमंत्री पशुधन योजना इस लक्ष्य को

प्राप्त करने में मील का पत्थर साबित होगा इस योजना को धरातल पर शत-प्रतिशत

उतारा जाए इस दिशा में मिलजुल कर काम करना होगा। उक्त बातें कृषि मंत्री श्री बादल ने

होटल बीएनआर चाणक्य ,रांची में पशुपालन विभाग द्वारा आयोजित रिफ्रेशर कोर्स कम

ट्रेनिंग प्रोग्राम का उद्घाटन करने के बाद कहीं। मंत्री ने कहा कि सरकार का उद्देश्य है कि

सरकार द्वारा लोगों के लिए चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उन्हें मिले।

इसके लिए हमें काफी मेहनत करना है और हम लोगों की आर्थिक सुदृढ़ता सुनिश्चित

करते हुए एक विजन के साथ काम करें हम अपने कार्यों के प्रति जवाबदेह रहे हैं और पूरी

ईमानदारी के साथ काम करें। मंत्री ने कहा कि पशु चिकित्सकों के लिए इस तरह के

प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित होने से निश्चित ही इसका लाभ आने वाले समय में होगा ।

पशु चिकित्सकों के सहयोग से पशुपालन करने वाले किसानों को अपने पशुओं की

देखभाल करने में मदद मिलेगी साथ ही पशुओं में कई तरह की होने वाली बीमारियों से

बचाव की जानकारी भी प्राप्त होगी। उन्होंने कहा कि कई ऐसी बीमारियां हैं जो पशुओं से

मानव में आती हैं और इससे हमारा स्वास्थ्य भी प्रभावित होता है।

आने वाले 4 वर्षों में इसका दायरा बढ़ाया भी जाएगा

आने वाले  समय में इस तरह के कार्यक्रमों के आयोजन होने से पशु चिकित्सकों के

सहयोग से किसानों को अपने पशुओं को विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बचाव की

जानकारी मिलेगी और पशुओं से मानव में होने वाली बीमारियों की रोकथाम में भी मदद

मिलेगी। उन्होंने कहा कि पशु चिकित्सकों के हितों की ओर सरकार का ध्यान है, अगर

किसी प्रकार की कोई समस्या है तो बताएं निश्चित ही उन समस्याओं को दूर करने का

प्रयास किया जाएगा। राज्य में आधुनिक पशु-चिकित्सालय हो और उनकी गिनती देश के

बेहतर पशु-चिकित्सालयों में हो। मंत्री ने कहा कि सरकार का प्रयास है कि राज्य में

आधुनिक पशु-चिकित्सालय हो और उनकी गिनती देश के बेहतर पशु-चिकित्सालयों में हो

,इसमें सभी का सहयोग अपेक्षित है साथ ही साथ हमें वेटरनरी कॉलेज की स्थिति को भी

सुधारना है ,उसे सुदृढ़ करना है ,उसे पहले की तरह ही बेहतर स्थिति में लाना है।

श्री पत्रलेख ने कहा कि वे पशुपालन विभाग द्वारा किए जा रहे कार्यों की समीक्षा प्रखंड

स्तर से लेकर प्रमंडल स्तर तक करेंगे। जिला स्तर के पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे

और योजनाओं को धरातल पर उतारने में सहयोग करेंगे साथ ही इस दिशा में कौन-कौन

सी समस्याएं आ रही है इस की जानकारी लेंगे और उसे दूर करने का प्रयास करेंगे। उन्होंने

कहा कि हमें इस तरह का काम करना है कि लोगों को लगे कि पशुपालन विभाग उनकी

आर्थिक स्थिति को बेहतर करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।

विभागीय निदेशक नैंसी सहाय ने विभागीय योजना की जानकारी दी

विभाग की निदेशक श्रीमती नैंसी सहाय ने कहा कि सरकार द्वारा चलाई जा रही

कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लोगों को मिले इसमें विभाग के साथ-साथ जिले के सभी

पदाधिकारी मेहनत कर रहे हैं। विभाग का सारा फोकस योजनाओं को धरातल पर उतारने

का है। मुख्यमंत्री पशुधन योजना किसानों की आर्थिक स्थिति को सुदृढ़ करने की एक

महत्वकांक्षी योजना है और विभाग इस पर पूरी तत्परता के साथ काम कर रहा है। उन्होंने

कहा कि रिफ्रेशर कोर्स कम ट्रेनिंग प्रोग्राम पशु चिकित्सकों के कौशल एवं क्षमता विकास

के लिए है। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम 16 से 19 मार्च तक चलेगा। हर दिन अलग-अलग क्षेत्र

के पशु चिकित्सकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में पशु चिकित्सकों

को इमर्जिंग एंड रीइमर्जिंग डिजीजेस ऑफ लाइवस्टोक एंड पोल्ट्री के बारे में जानकारी दी

जाएगी। इस अवसर पर पशु चिकित्सक ,पशुपालन विभाग के सभी पदाधिकारी एवं जिला

पशुपालन पदाधिकारी एवं अन्य लोग उपस्थित थे।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from कामMore posts in काम »
More from कृषिMore posts in कृषि »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: