fbpx Press "Enter" to skip to content

सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कोरोना बचाव के लिये संसाधनों का बेहतर इस्तेमाल

  • सरकार हर गरीब को राहत पहुंचाने में जुटी है
  • सरकार सतर्कता के साथ आगे बढ़ रही
  • जनधन के लाभुक बैंकों में भीड़ से बचें
  • यह संकट है आक्षेप लगाने का वक्त नहीं

रांची : सीएम हेमंत सोरेन ने कहा है कि कोरोना बचाव के लिये संसाधनों के बेहतर उपयोग

पर बल दिया है। श्री सोरेन ने कहा कि कोरोना महामारी से बचाव के लिये सरकार सतर्कता

से आगे बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि सीमित छूट के साथ सरकारी कार्यालयों को खोलने का

निर्देश दिया गया है। इसके तहत सोशल डिस्टेंसिंग का पालन आवश्यक है। उन्होंने घरों

पर रह कर ही कोरोना से बचे रहने की बात कही है। उन्होंने जनधन योजना के तहत खाते

में डाली गयी राशि निकालने के लिये घंटों लाइन में नहीं लगने की सलाह दी है। उन्होंने

कहा कि खास कर बुजुर्गों को ऐहतियात बरतने को कहा है। उन्होंने कहा कि खाते में डाली

गयी राशि कभी भी निकाली जा सकती है। लाभुकों के बीच राशि निकालने के लिये भ्रम

फैलाने वालों को सावधान किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव के लिये सरकार

संसाधनों की पूरी व्यवस्था कर रही है। मास्क, सेनेटाइजर, पीपीइ किट, रैपिड जांच किट

की व्यवस्था की गयी है।

सीएम हेमंत ने सरकारी प्रबंधों की जानकारी दी

उन्होंने कहा कि गरीब व जरूरतमंदों के लिये सीएम दीदी किचन व सामुदायिक रसाई के

माध्यम से भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। कोरोना हॉटस्पॉट को पूरी तरह सील कर हर

घर को सेनेटाइज किया जा रहा है। हर कोरोना पॉजिटिव की ट्रेवल हिस्ट्री खंगाल कर लोगों

को आइसोलेशन में भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना किसी जाति-धर्म या अमीर-

गरीब को देख कर नहीं आता है। इस महामारी के समय में किसी धर्म व सम्प्रदाय पर

आक्षेप व आरोप लगाने से बाज आने की नसीहत दी है। घरों में रह कर ही कोरोना से बचाव

संभव है। लॉकडाउन का सख्ती से पालन करना जरूरी है। उन्होंने कहा कि सशर्त्त कृषि

कार्य व निर्माण कार्यों की छूट दी गयी है। इसके अलावा राज्य सरकार ने कुछ उद्योगों को

भी खोलने का फैसला लिया है।

प्रवासी मजदूरों को राहत देने की व्यवस्था शीघ्र

सीएम ने कहा कि दूसरे राज्यों में फंसे सात लाख से अधिक मजदूरों को राहत देने के लिये

व्यापक कार्ययोजना तैयार की गयी है। इसके तहत मजदूरों का डेटाबेस तैयार किया जा

रहा है। इन मजदूरों को जल्द ही सहायता राशि डीबीटी के माध्यम से उपलब्ध कराया

जायेगा। साथ ही, लॉकडाउन खुलने के बाद वापसी का उपाय किया जा रहा है। उन्होंने

कहा कि मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिये मनरेगा कार्यक्रम शुरू कर दिया गया

है। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखने को कहा गया है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from राज काजMore posts in राज काज »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!