fbpx Press "Enter" to skip to content

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने पलामू के अत्याधुनिक जांच केंद्र का ऑनलाइन उद्घाटन किया

  • पलामू मेडिकल कॉलेज में स्थापित है प्रयोगशाला

  • यहां हर दिन डेढ़ हजार तक जांच हो पायेगी

  • संथालपरगना में भी जल्द होगी इसका शुभारंभ

  • लोगों को बेहतर ईलाज प्राथमिकताः हेमंत सोरेन

संवाददाता

रांचीः मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि कोरोना संक्रमण के हालात को देखते हुए राज्य

सरकार संक्रमण के शुरुआती दिन से ही तेज गति से काम करना प्रारंभ किया है। संक्रमण

के शुरुआती दौर में लगभग 20 से 25 दिन हमें कोविड-19 टेस्ट के लिए दूसरे राज्यों पर

निर्भर रहना पड़ा था। राज्य सरकार प्रतिबद्धता के साथ कार्य करते हुए राज्य में शीघ्र ही 3

प्रयोगशाला स्थापित कर जांच कार्य प्रारंभ किया।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इस मौके पर क्या कहा देखिये वीडियो में

उन्होंने कहा कि कोविड-19 की जांच युद्ध स्तर पर किया जाना अति आवश्यक है। इस

निमित्त आज राज्य सरकार द्वारा पलामू में भी एक बायोसेफ्टी लेवल का एक

प्रयोगशाला का उद्घाटन किया गया है। मुख्यमंत्री ने विश्वास जताया कि यह प्रयोगशाला

पलामू एवं आस-पास क्षेत्र के लोगों के लिए मील का पत्थर साबित होगा। उक्त बातें

मुख्यमंत्री ने आज पलामू मेडिकल कॉलेज में नवनिर्मित विरोलॉजी एवं कोविड-19

प्रयोगशाला का ऑनलाइन उद्घाटन के क्रम में कही।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि जल्द ही संताल परगना में भी एक अत्याधुनिक

कोविड-19 जांच प्रयोगशाला का शुभारंभ किया जाएगा। इसकी पूरी तैयारी कर ली गई है।

उन्होंने कहा कि राज्य वासियों को बेहतर स्वास्थ्य चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराना

सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। वर्तमान समय में स्वास्थ्य चिकित्सा के क्षेत्र में किसी

भी प्रकार की लापरवाही बड़ी चुनौती बन सकती है। पूरी तत्परता के साथ लोगों को

स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध हो इस पर हमें निरंतर कार्य करने की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने

कहा कि राज्य में प्रयोगशाला कम होने के कारण रिम्स इत्यादि जगहों पर सैंपल जांच हेतु

काफी भीड़ होती है परंतु जैसे-जैसे प्रयोगशालाओं का दायरा बढ़ेगा लोगों को उन्हीं के क्षेत्र

में जांच रिपोर्ट मिलेगी और रिम्स अथवा अन्य जगहों के प्रयोगशालाओं पर निर्भर नहीं

रहना पड़ेगा।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेने ने कहा प्रत्येक जिला में ट्रूनेट मशीन

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा वर्तमान समय में कोविड-19 की तत्काल जांच

के लिए ट्रूनेट मशीन की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। ट्रूनेट मशीन का दायरा बढ़ाकर

प्रखंड स्तर में भी जांच सुविधा उपलब्ध कराने हेतु सरकार प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री ने कहा

कि कोरोना संक्रमण के इस दौर में बंदी का माहौल है फिर भी राज्य सरकार द्वारा पलामू

में भव्य प्रयोगशाला स्थापित करना एक चुनौती थी। उन्होंने कहा कि यह अत्याधुनिक

प्रयोगशाला पलामू मेडिकल कॉलेज को सुपुर्द किया गया है। उन्होंने कहा कि इस

प्रयोगशाला के संचालन में कभी भी सरकार के सहयोग की जरूरत पड़े तो सरकार सहयोग

देने के लिए कटिबद्ध है।

कई स्तर पर परमिशन की पड़ती है आवश्यकता

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 जांच प्रयोगशाला के संचालन के लिए गाइडलाइन के

अनुसार कई स्तर पर परमिशन की आवश्यकता पड़ती है। राज्य सरकार गाइडलाइन के

अनुसार सभी प्रक्रिया को पूरा कर प्रयोगशाला स्थापित करने के लिए निरंतर कार्यरत है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पलामू शुरू हुए कोविड-19 जांच प्रयोगशाला का उद्घाटन करने मैं

सशरीर उपस्थित नहीं हो सका, इसका मुझे दु:ख है, पर इस बात की खुशी है कि इस

प्रयोगशाला का विधिवत शुभारंभ आज हुआ। मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान समय में

कोविड-19 का कोई वैक्सीन या दवा उपलब्ध नहीं हो सका है। इस संक्रमण से बचने का

एक ही तरीका है। स्वयं खुद का ख्याल रखें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। सेल्फ

क्वॉरेंटाइन एवं आइसोलेशन में रखकर हम इस संक्रमण से लड़ सकते हैं।

अन्य राज्यों के अपेक्षा झारखंड ने किया अच्छा काम

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि राज्य में जैसे ही नई सरकार बनी, सरकार ठीक तरह से

स्थापित भी नहीं हो पाई थी और हम कोरोना संक्रमण के मक्कड़जाल में फंस गए।

कोरोना संक्रमण राज्य में बड़ी चुनौती थी। यह चुनौती वर्तमान समय में पता भी चल रहा

है। उन्होंने कहा कि सीमित संसाधनों के साथ संक्रमण के हर पहलुओं पर निरंतर नजर

रखा गया, यही वजह है कि अन्य पड़ोसी राज्यों के मुकाबले आज हम संक्रमण को

नियंत्रित करने में अच्छा कार्य कर पा रहे हैं। राज्य सरकार की सजगता और बेहतर

प्रबंधन का उदाहरण आज दिख रहा है। उन्होंने कहा कि पड़ोसी राज्य किस तरह संक्रमण

की चुनौती से घिरे पड़े हैं। यह देखने को मिल रहा है।

सभी दिशाओं में आगे बढ़ रही है सरकार

इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन के

नेतृत्व में राज्य सरकार हर दिशा में आगे बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने

स्वास्थ्य विभाग के क्षेत्र में गंभीरता दिखायी है। उन्होंने कहा कि आज का दिन गौरव का

दिन है। कोविड-19 जांच के लिए पलामू मेडिकल कॉलेज में नए प्रयोगशाला का उद्घाटन

हो रहा है। राज्य सरकार एवं स्वास्थ्य विभाग आपसी समन्वय बनाकर कार्य कर रही है।

मैं मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारियों के प्रति आभार व्यक्त करता हूं।

मुख्यमंत्री ने पलामू मेडिकल कॉलेज में उपस्थित सभी कोरोना वारियर्स को अपनी

शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने आइसीएमआर की गाइडलाइन के अनुरूप इस लैब को

तैयार करने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि मात्र छह सप्ताह में इस लैब का कार्य

पूरा किया गया है। 6 सप्ताह का मशक्कत आज रंग लाया है। इस अवसर पर मुख्य सचिव

सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, स्वास्थ्य विभाग के प्रधान

सचिव डॉ नितिन मदन कुलकर्णी उपस्थित थे। वहीं कार्यक्रम स्थल पलामू से छतरपुर

विधायक श्रीमती पुष्पा देवी, डीआईजी आरके लकड़ा, उपायुक्त शशि रंजन, पुलिस

अधीक्षक अजय लिंडा, पीएमसीएच के प्राचार्य डॉ जे शरण प्रसाद, अधीक्षक डॉ केएन सिंह,

सिविल सर्जन पलामू डॉ जॉन एफ कैनेडी सहित अन्य पदाधिकारी एवं कर्मी ऑनलाइन

उपस्थित थे।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पलामूMore posts in पलामू »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »
More from साइबरMore posts in साइबर »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

2 Comments

Leave a Reply