Press "Enter" to skip to content

सीएम हेमन्त सोरेन कोरोना से हर नागरिक को बचाने की मुहिम में जुटे हैं

  • सोशल मीडिया के माध्यम से  समस्याओं का समाधान

  • सामुदायिक किचन से जरूरतमंदों को भोजन की व्यवस्था

  • बाहर फंसे मजदूरों को राहत पहुंचाने की मॉनिटरिंग

रांची : सीएम हेमन्त सोरेन कोरोना के खतरों से झारखंडवासियों को बचाने की मुहिम में

जुटे हुये हैं। श्री सोरेन लगातार राहत कार्यों व प्रशासनिक व्यवस्था की मॉनिटरिंग कर रही

है। दूसरी ओर, सोशल मीडिया के माध्यम से भी जरूरतमंद, बीमार व लाचार लोगों की

समस्याओं का हल निकाल रहे हैं। राज्य में सामुदायिक रसोई व सीएम किचन के माध्यम

से हर गरीब को भरपेट भोजन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। वहीं, सीएम ने

दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों व आम लोगों को सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिये विभिन्न

राज्यों के सीएम से स्वयं बात की है। इसके अलावा विभिन्न राज्यों में फंसे लोगों को राहत

देने के लिये नोडल पदाधिकारी बनाया गया है। लॉक डाउन की स्थिति में कालाबाजारी पर

रोक लगाने के लिये भी कठोर कदम उठाये गये हैं।  मास्क, सेनेटाइजर, पीपीइ उपलब्ध

कराने के लिये धन की कमी नहीं होने देने का भरोसा दिया है।

सीएम हेमन्त सोरेन कहा कि घरों में रहना ही श्रेयष्कर है

बिना वजह घरों से बाहर नहीं निकलने को लेकर लोगों को लगातार जागरूक किया जा रहा

है। उन्होंने कहा कि कोरोना किसी जाति, धर्म व सम्प्रदाय को छोड़ने वाला नहीं है। कोरोना

पॉजिटिव लोगों को कोरेंटाइन में जाना आवश्यक है। बाहर से आने वाले हर व्यक्ति की

चिकित्सा जांच जरूरी है। इसके लिये स्थानीय मुख्यिा, जिला परिषद अध्यक्ष व

जनप्रतिनिधियों के साथ सीएम ने संवाद स्थापित किया है। उन्होंने कहा कि एकजुट और

सतर्क रह कर ही कोरोना को हराना संभव है। इस बीच हिंदपीढी इलाके के एक मस्जिद के

पास से एक विदेशी मूल की महिला को कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद पूरे इलाके को

सेनेटाइज्ड किया जा रहा है। इलाके में कर्फ्यू लगा कर आम लोगों की जान बचाने की

कवायद हो रही है। उन्होंने हर कोई से लॉक डाउन के नियमों का पालन करने की अपील

की है। सामाजिक दूरी रख कर ही रांची समेत झारखंड को कोरोना के खतरों से दूर रखने

की बात कही है।

गरीबों को राशन नहीं देने वाले डीलर पर प्राथमिकी दर्ज

सीएम के निर्देश के बाद गढ़वा के खारोंधी प्रखंड अंतर्गत अरंगी पंचायत के जनवितरण

प्रणाली डीलर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है। सीएम ने कहा है कि गरीबों के हक का

अनाज मिलना चाहिये। अगले 15दिनों में कारण बताओ नोटिस का जवाब मिलने के बाद

उसका लाइसेंस रद्द किया जा सकता है। उन्होंने सभी डीसी को पीडीएस दुकान से अनाज

वितरण सुनिश्चित करने को कहा है। दरअसल, गढ़वा के उक्त राशन डीलर पर तीन माह

से अनाज वितरण नहीं करने का आरोप था। विशेषकर दलित परिवारों को राशन नहीं देने

की शिकायत की गयी थी।

[subscribe2]

Spread the love
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from नेताMore posts in नेता »
More from रांचीMore posts in रांची »

4 Comments

... ... ...
error: Content is protected !!