fbpx Press "Enter" to skip to content

सीएम हेमंत ने तमिलनाडु में फंसी 200 युवतियों के मदद की अपील की

  • सीएम ने कहा लॉकडाउन के नियमों का पालन करें, सुरक्षित रहें
  • जेलों में बंद सात साल के सजायाफ्ता को छोड़ने पर हो रहा विचार
  • गरीबों को अनाज देने में लापरवाही बरतने वाले पदाधिकारी नपेंगे

रांची : सीएम हेमंत सोरेन ने लॉकडाउन के नियमों का पालन करने व सुरक्षित रहने की

अपील की है। उन्होंने कहा है कि गरीबों को अनाज उपलब्ध कराने में लापरवाही बरतने

वाले पदाधिकारी नपेंगे। मंगलवार को राज्य के कुछ जिलों में राशन दुकानों के बंद होने की

शिकायत के बाद सीएम ने विभागीय पदाधिकारियों को चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि

राज्य सरकार सात साल की सजायाफ्ता बंदियों को छोड़ने पर विचार कर रही है। कोरोना

संकट से उत्पन्न स्थिति का प्रतिदिन मॉनिटरिंग किया जा रहा है। उन्होने कहा कि राज्य

के हर जरूरतमंद को राहत पहुंचाना सरकार का दायित्व है। उन्होंने कहा कि कोरोना जंग

में सखी मंडल की दीदियों का बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेना उत्साहजनक है। राज्य के 4121

पंचायत में दो लाख 20 हजार से ज्यादा जरुरतमंद लोगों को मंगलवार को मुख्यमंत्री दीदी

किचन के जरिए खाना खिलाया गया। सखी मंडल की महिलाएं इस कार्य के लिए कोई

पारिश्रमिक नहीं ले रहीं हैं। इधर, सीएम के आदेश के बाद गढ़वा के मेराल प्रखंड में निवास

करने वाले दस मुसहर परिवार को अनाज उपलब्ध कराया गया। सभी मुसहर परिवार को

10 किलो चावल, चना, गुड़, चूड़ा उपलब्ध करा दिया गया है। गढ़वा डीसी ने आकस्मिक

कोष से अनाज उपलब्ध कराया है। सीएम ने गढ़वा जिला प्रशासन को ऐसे परिवारों को

दीदी किचन के माध्यम से उन्हें भी जोड़ने का निर्देश दिया है। दरअसल, मेराल के मुसहर

समुदाय के दस परिवार के समक्ष भूखमरी की नौबत आने की जानकारी दी गयी थी,

जिनके पास राशन कार्ड भी नहीं है। सरकार ने अपने स्तर से त्वरित सहायता पहुंचाई।

सीएम ने दिया आश्वासन, युवतियों को मिलेगी मदद

सीएम ने तमिलनाडु के सीएम से झारखंड की दो सौ युवतियों के फंसे होने की जानकारी

देकर मदद की अपील की है। सीएम ने तमिलनाडु के तिरुपुर स्थित प्रीमियर निट्स

अपैरल लिमिटेड कंपनी में कार्यरत युवतियों की मदद करने का आग्रह किया है। सीएम ने

कहा कि झारखंड की इन 200 युवतियों को तत्काल सहायता करें। उपर्युक्त कंपनी द्वारा

युवतियों से अमानवीय व्यवहार करने की बात कही गयी है। सीएम ने चाईबासा डीसी को

भी इस मामले में हस्तक्षेप करने का निर्देश दिया है। दरअसल, तमिलनाडु के तिरुपुर

स्थित गारमेंट फैक्टरी में चाईबासा की युवतियों से जबरन काम कराने की जानकारी दी

गयी थी। मामले की जानकारी के बाद झारखंड सरकार ने सक्रियता दिखायी।

झामुमो ने चार सौ गरीबों को खिलाया भोजन

सीएम हेमंत सोरेन के निर्देशानुसार मंगलार को बिग बाजार के सामने करीब चार सौ

गरीबों को भोजन कराया गया। झामुमो के केंद्रीय प्रवक्ता मनोज कुमार पांडेय के सहयोग

से करीब गरीबों को भोजन कराया गया। श्री पांडेय ने कहा कि कोरोना संकट के बीच हर

गरीब को खाना उपलब्ध कराना सामूहिक दायित्व है। इस कार्य में दिलखुश रेस्टोरेंट के

संचालक एवं सभी कर्मचारियों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया और कहा कि नरसेवा ही

नारायण सेवा है, लॉकडाउन में रोजाना गरीबों को भोजन उपलब्ध कराया जाएगा।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

3 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat