fbpx Press "Enter" to skip to content

निशिकांत के खिलाफ रांची कोर्ट में सीएम ने दर्ज कराया मामला

रांचीः झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने गोड्डा से भाजपा सांसद निशिकांत दुबे के

खिलाफ रांची के सिविल कोर्ट में याचिका दाखिल की है। निशिकांत दुबे ने एक महिला को

लेकर मुख्य मंत्री हेमंत सोरेन पर आरोप लगाए थे। इसके बाद मुख्यमंत्री की ओर से

मुकदमा दायर किया गया है। मामले की अगली सुनवाई के लिए 22 अगस्त की तारीख

तय की गई है। गौरतलब है कि भाजपा के सांसद निशिकांत दुबे ने 28 जुलाई को ट्वीट कर

महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख को संबोधित करते हुए लिखा कि 2013 में झारखंड के

तत्कालीन मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर मुंबई की एक लड़की ने बलात्कार, अपहरण के

आरोप लगाए। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार समझौते से भी यह आरोप बंद नहीं हो

सकता। एक मुख्यमंत्री पर यह आरोप लोकतंत्र के लिए शर्मनाक है। इसकी जांच मुम्बई

पुलिस को तुरंत दोबारा करना चाहिए। लगे हाथ एक अन्य ट्वीट में निशिकांत ने लिखा

कि मुम्बई में हेमंत सोरेन केस करने वाली लड़की की हत्या झारखंड पुलिस के डीजीपी

एमवी राव व माफिया, गुंडे के साथ मिलकर कराना चाहते हैं। उन्होंने ट्वीट में गृहमंत्री

अमित शाह और महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख को भी टैग कर आग्रह किया कि

लड़की की जान बचाने के लिए मुंबई पुलिस उसकी सुरक्षा करे और केस सीबीआई को दिया

जाए। साथ ही उन्होंने लिखा कि जितनी ताकत है मुख्यमंत्री आप लड़िए ,लेकिन यह

बताइए बलात्कार का आरोप लगाने वाली लड़की के साथ आपने समझौता क्यों किया?

निशिकांत के खिलाफ झामुमो पहले से हमलावर

भाजपा सांसद के इस ट्विटर के जवाब में सीएम हेमंत सोरेन ने भी ट्विटर हैंडल से ट्वीट

किया कि सांसद निशिकांत दुबे ने मुझ पर कुछ आरोप लगाए हैं। सांसद को इसका जवाब

आपको अगले 48 घंटे में कानूनी रूप से दिया जाएगा। वे देश और राज्यवासियों को अपने

आचरण के अनुरूप गुमराह करना बंद करें। फिर सांसद दुबे ने लिखा कि इंतजार रहेगा,

मैंने नहीं लड़की ने आरोप लगाया है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अदालतMore posts in अदालत »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from नेताMore posts in नेता »
More from रांचीMore posts in रांची »

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!