fbpx Press "Enter" to skip to content

नागरिकता कानून से किसी भारतीय पर कोई आंच नहीः नरेंद्र मोदी

  • कांग्रेस में हिम्मत है तो हर पाकिस्तानी को नागरिकता दे
  • उसकी नीति की वजह से देश का बंटवारा हो चुका है
  • संथाल परगना में किया पार्टी प्रत्याशियों का प्रचार

रांची : नागरिकता कानून पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मैं आज

कांग्रेस और उनके साथी दलों को खुलेआम चुनौती देता हूं कि अगर उनमें

हिम्मत हैं तो वो खुलकर घोषणा करें कि वो पाकिस्तान के हर नागरिक को

भारत की नागरिकता देने के लिए तैयार हैं देश उनका हिसाब चुकता कर

देगा। नागरिकता कानून पर उन्होंने ऐसी बात कही।

झारखंड के बरहेट में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस

और उसके साथियों में अगर साहस है तो खुलकर ये भी घोषणा करें कि वो

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में फिर से अनुच्छेद 370 को लागू करेंगे। अगर

हिम्मत है, तो वो ये भी खुलकर घोषणा करें कि तीन तलाक के खिलाफ जो

कानून बना है, उसे रद्द कर देंगे।

दम है तो कांग्रेस चुनौती स्वीकार करे

पीएम ने कहा कि कांग्रेस और इसके साथी इस चुनौती को स्वीकार करें और

खुलकर ये ऐलान करें वरना देश से झूठ बोलना, भ्रम फैलाना और दूसरों को

अपनी ढाल बनाकर ये गुरिल्ला राजनीति करना बंद कर दें।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस और उसके साथी देश के युवाओं को बर्बाद करने का ये

खेल खेलना बंद कर दें। कांग्रेस की बांटो और राज करो इसी नीति की वजह से

देश का एक बार बंटवारा हो चुका है। मां भारती के टुकड़े पहले हो चुके हैं।

यही कांग्रेस है जिसने अवैध तरीके से लाखों घुसपैठियों को भारत में घुसने

दिया, यहां उनको वोटबैंक के नाम पर इस्तेमाल किया। प्रधानमंत्री ने कहा

कि आज झारखंड की इस धरती से, इन वीर पुत्रों की धरती से, देश के मर-

मिटने वाले इन बलिदानियों की धरती से मैं फिर एक बार पूरे देश को, देश के

प्रत्येक नागरिक को, चाहे हिंदू हो मुसलमान हो, हर को फिर से कहना

चाहता हूं इस कानून से किसी भी भारतीय नागरिक की नागरिकता पर कोई

भी असर नहीं होगा।

नागरिकता कानून के लिए सरकार का ग्रंथ संविधान ही है

उन्होंने कहा कि मैं फिर से स्पष्ट कर दूं, भारत सरकार का एक ही ग्रंथ है

बाबा साहब आंबेडकर का दिया हुआ संविधान। हमारे लिए एक ही मंत्र

सर्वोपरि है और एक ही मंत्र हमारी प्रेरणा है। पीएम ने कहा कि मेरा देश के

कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के युवा साथियों से भी आग्रह है कि आप

अपने महत्व को समझें, जहां आप पढ़ रहे हैं उन संस्थानों का महत्व समझें।

सरकार के फैसलों और नीतियों को लेकर चर्चा करें, डिबेट करें। उन्होंने कहा

कि अगर आपको कुछ गलत लगता है तो लोकतांत्रिक तरीके से प्रदर्शन करें,

सरकार तक अपनी बात पहुंचाएं। ये सरकार आपकी हर बात, हर भावना को

सुनती, समझती है प्रधानमंत्री ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मैं पूरे

देश को, देश के प्रत्येक नागरिक को चाहे हिंदू हो या मुस्लिम को फिर ये

कहना चाहता हूं कि इस कानून से किसी भी भारतीय नागरिक की

नागरिकता पर कोई असर नहीं होगा।

हम कभी भेद भाव की राजनीति नहीं करते

उन्होंने कहा कि भारत के मुसलमानों को डराने के लिए कांग्रेस, उसके जैसे

दलों और उसके वामपंथी इकोसिस्टम ने पूरी ताकत झोंक दी है। नागरिकता

संशोधन कानून को लेकर फिर ये सफेद झूठ बोलने लगे हैं, लोगों को डराने

लगे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि हमने जो नागरिकता कानून बनाया है वो तो

हमारे पड़ोस के तीन देशों में, धार्मिक अत्याचार की वजह से भारत आने वाले

लोगों के लिए बनाया गया है। ये उन लोगों के लिए बनाया गया है जो बरसों

से बहुत दयनीय स्थिति में हैं, जिनके पास वापसी का कोई रास्ता नहीं है।

सत्य के मार्ग के सबको चलना चाहिए

सत्य के मार्ग के सबको चलना चाहिए था कि नहीं चलना चाहिए था। पीएम

ने कहा कि लेकिन ऐसा क्यों नहीं हुआ? क्योंकि वो वही काम करते थे,

जिनमें अपनी राजनीति की रोटियां सेंकते रहें। इसलिए नहीं हुआ, क्योंकि

इसका हल कांग्रेस और उसके साथी कभी नहीं चाहते थे। ये आदिवासी को

भी मिला, पिछड़े को भी मिला, दलित को भी मिला, सामान्य वर्ग को भी

मिला। हर पंथ, हर संप्रदाय के गरीबों को इसका लाभ मिला। उन्होंने कहा

कि कमल का फूल खिलता है तो आदिवासियों का भला होता है, महिलाओं

का भला होता है, किसानों का भला होता है और युवाओं का भला होता है।

पीएम मोदी ने कहा कि देशभर के करोड़ों गरीब किसानों, खेत मजदूरों,

असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों, दुकानदारों को तीन हजार रुपये की पेंशन की

सुविधा मिली है, वो भी बिना भेदभाव के। देश के करीब दो करोड़ गरीबों और

झारखंड के 10 लाख गरीबों के लिए अगर घर बने तो ये भी बिना किसी

भेदभाव के। उन्होंने कहा कि दूर-दूर से इतनी बड़ी तादात में आप मुझे यहां

आशीर्वाद देने आएं हैं। आपका यही स्नेह, आशीर्वाद तो जेएमएम, कांग्रेस,

आरजेडी और देशभर के वामपंथियों को परेशान करता है, उनकी नींद हराम

कर देता है। मोदी को, भाजपा को मिल रहा देश का प्यार इनको पच नहीं रहा

है। प्रधानमंत्री ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि झारखंड में चार चरणों

का मतदान हो चुका है और हर चरण में भारी एवं शांतिपूर्ण मतदान हुआ है।

झारखंड पुकारा, भाजपा दोबारा

झारखंड के मतदाताओं ने डर और भय से मुक्त होकर मतदान किया है। इस

बार भी हर तरफ एक ही आवाज है – झारखंड पुकारा, भाजपा दोबारा। उन्होंने

कहा कि वीर वीरांगनाओं के आशीर्वाद से भाजपा सरकार पूरे देश में

आदिवासी सेनानियों से जुड़े संग्रहालय बना रही है ताकि भारत के स्वतंत्रता

संग्राम में, भारत के निर्माण में हिंदुस्तान के हर कोने में इन आदिवासी वीरों

के योगदान में भारत हमेशा-हमेशा याद रखे।

पीएम मोदी ने कहा कि जब से भाजपा की एनडीए सरकार देश में है तबसे हर

वर्ग, हर संप्रदाय के हित में हमने काम किया। झारखंड सहित पूरे देश के

करोड़ों किसान परिवारों के बैंक खातों में 36 हजार करोड़ रुपये सीधे जमा हो

चुके हैं। ये हर वर्ग, हर संप्रदाय के किसानों के खाते में जमा हुए हैं। उन्होंने

कहा कि जब गरीब को, आदिवासी को लगता है कि मेरा कोई अपना है जो

दिल्ली में बैठकर उसका ध्यान रख रहा है, उसके बच्चों का ध्यान रख रहा है,

तो गरीब से गरीब, जंगलों में रहने वाला मेरा भाई, मेरी बहनें हम पर भरपूर

आशीर्वाद बरसाते हैं।

चुनाव प्रचार में छठी बार पहुंचे मोदी

इस चुनाव में प्रचार के लिए राज्य में यह उनका छठा दौरा है। इससे पहले

उन्होंने दुमका में भी सभा की थी। पांचवे चरण के चुनाव में झारखंड

विधानसभा की 16 सीटों पर मतदान किए जाएंगे। बरहेट से भाजपा ने

सिमोन मालतो को अपना प्रत्याशी बनाया है, जबकि झामुमो ने गठबंधन

की तरफ से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार हेमंत सोरेन को चुनावी मैदान में

उतारा है। इस सीट पर भाजपा और कांग्रेस का सीधा मुकाबला है। बरहेट में

मोदी के साथ बोरियो, लिट्टीपाड़ा, राजमहल, पाकुड़, महगामा और गोड्डा के

उम्मीदवार भी मंच पर मौजूद रहें। 2014 में हुए विधानसभा चुनावों में इन

16 सीटों में से छह सीटों पर झामुमो, पांच पर भाजपा, तीन पर कांग्रेस और

दो पर जेवीएम ने जीत हासिल की थी। वहीं, साल 2009 में हुए इन

विधानसभा सीटों के चुनाव में नौ सीटों पर झामुमो, दो पर भाजपा, दो पर

जेवीएम और एक-एक सीट कांग्रेस, राजद और निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत

हासिल की थी।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

4 Comments

Leave a Reply

Open chat
Powered by