fbpx Press "Enter" to skip to content

क्राइस्टचर्च हमला का आरोपी 51 लोगों की हत्या में दोषी

वेलिंगटनः क्राइस्टचर्च हमला करीब एक साल पहले की घटना है। इस घटना में दो

मस्जिदों पर हुए हमले के आरोपी ब्रेंटन टैरेंट को 51 लोगों की हत्या मामले में गुरुवार को

दोषी ठहराया गया। ऑस्ट्रेलिया के न्यूसाउथ वेल्स निवासी ब्रेंटन (29) ने 40 लोगों की

हत्या और आतंक फैलाने का भी एक आरोप को भी स्वीकार किया है। इससे पहले उन्होंने

अपने ऊपर लगे सभी आरोपों से इंकार कर दिया था जब जून में इस मामले पर सुनवाई

चल रही थी। पिछले साल 15 मार्च को सैन्य वेशभूषा पहने बंदूकधारी टैरेंट ने क्राइस्टचर्च

के अंदरुनी शहर अलनूर और लेनवुड मस्जिद में 51 दर्शनार्थियों की हत्या कर इंटरनेट पर

लाइवस्ट्रीम कर दिया था। इस हमले में 49 लोग घायल हुए थे। न्यूजीलैंड की इतिहास में

यह अबतक का सबसे भयानक हमला था जिसमे पुरी दुनिया को हिलाकर रख दिया था।

न्यूजीलैंड सरकार ने इस हमले के कारण बंदूक रखने के कानून को और कड़ा कर दिया

था। कोरोना के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर न्यूजीलैंड में भी इस समय लॉकडाउन चल रहा है

जिस वजह से गुरुवार को क्राइस्टचर्च उच्चन्यायालय में सुनवाई को बहुत सीमित रखा

गया था। सुनवाई में लोगों को आने की अनुमति नहीं दी गयी और ब्रेंटन तथा उसके वकील

को वीडियो लिंक के जरिए सुनवाई में शामिल किया गया। दोनों मस्जिदों के प्रतिनिधि

इस सुनवाई में पीड़ित परिवार की ओर से शामिल हुए। ब्रेंटन को आगामी एक मई तक के

लिये हिरासत में रखा गया है।

क्राइस्टचर्च हमला का आरोपी फेसबुक पर लाइव था

उल्लेखनीय है कि इस एक घटना की वजह से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक को अपने

लाइव के तौर तरीकों में बदलाव करना पड़ा है। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि हमले के वक्त

आरोपी ने खुद को फेसबुक लाइव से जोड़ रखा था। इसकी वजह से दुनिया भर के लोगों

तक इस हमले का लाइव वीडियो सीधे पहुंचा था। इससे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों के इस

किस्म के हिंसक इस्तेमाल पर बहस छिड़ गयी थी।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat