fbpx Press "Enter" to skip to content

आरोग्य सेतु एप से चीनी जासूसी क्यो इसमें हमारी निजता का उल्लंघन : कांग्रेस

नयी दिल्लीः आरोग्य सेतु एप का विवाद दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा। सरकार द्वारा इसमें

निजता के हनन नहीं होने की सफाई दी गयी है। कांग्रेस ने कहा है कि आरोग्य सेतु एप में

हमारा डाटा सुरक्षित नहीं है और इसमें हमारी निजता का उल्लंघन हो रहा है। कांग्रेस

संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने बुधवार को यहां संवाददाता सम्मेलन

में सवालों के जवाब में कहा कि इस एप को लेकर जो खुलासा हुआ है उससे साफ हो गया है

कि इसमें हमारी निजता सुरक्षित नहीं है और निजता के मौलिक अधिकारों का यह गंभीर

उल्लंघन है। इसको लेकर एक हैकर ने बताया कि इसमें निजता सुरक्षित नहीं है और देश

की कम्प्यूटर रिस्पांस टीम ने उससे जो जानकारी मांगी थी उसने उनका जवाब दिया है।

उन्होंने कहा कि यह एप 24 घंटे हमारी गतिविधियों पर एक जासूस की तरह नजर रखता

है। इसका निर्माण सरकारी क्षेत्र की नहीं बल्कि निजी क्षेत्र की कंपनी ने किया है।

गोआईबीबो और मेक माई ट्रिप्स ने भारत सरकार के लिए इस एप को बनाया है और

सबको मालूम है कि इन दोनों कंपनियों में 40 फीसदी मल्कियत चीन की है। प्रवक्ता ने

कहा कि इस एप में जो डाटा पहुंच रहा है वह कहां जा रहा है इसकी किसी को जानकारी

नहीं है और भारत सरकार भी इस बारे में कुछ बताने को तैयार नहीं है।

आरोग्य सेतु एप कई कार्यों में अब अनिवार्य

इस बीच केंद्र सरकार के निर्देश के मुताबिक इस एप को मजदूरों की वापसी के अलावा

सरकारी कार्यालयों में उपस्थिति तथा कई अन्य कार्यों को लेकर अनिवार्य कर दिया गया

है। निजी कंपनियों तथा खास तौर पर चीन के स्वामित्व वाली निजी कंपनियों द्वारा इन्हें

तैयार किये जाने की वजह से विशेषज्ञ लगातार निजता के हनन के आरोप लगाते आ रहे

हैं। खासकर सरकारी एजेंसी द्वारा इसे नहीं बनाये जाने की वजह से भी इस पर पहले से

ही लोग आशंकित हैं।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

Open chat