fbpx Press "Enter" to skip to content

वरीय अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री ने की विधि व्यवस्था से संबंधित बैठक

  • हर हाल में अपराध पर हो नियंत्रण – सीएम

  • जिलावार अपराध के आंकड़ों को भी जाना

  • पुलिस को और सतर्क करने का निर्देश दिया

  • पुलिस और प्रशासनिक अफसर मौजूद थे

विशेष संवाददाता

पटना : वरीय अधिकारियों के साथ शनिवार को 1, अण्णे मार्ग स्थित नेक संवाद में

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में विधि व्यवस्था से संबंधित समीक्षा बैठक आयोजित की गई।

बैठक के दौरान अपर पुलिस महानिदेशक सीआईडी विनय कुमार ने विधि व्यवस्था की

समीक्षा से संबंधित प्रस्तुतीकरण दिया। प्रस्तुतीकरण में थानावार, जिलावार, रेंजवार,

क्राइम, डकैती, लूट, मर्डर, रावड़ी, रेप, ग्रीवेंस कांड, वाहन चोरी, एससी एसटी के विरुद्ध

अपराध तथा अपराध के अन्य कारणों की विस्तृत जानकारी दी गई। अपराध वृद्धि वाले

थानाध्यक्षों के विरुद्ध की गई कार्रवाई एवं अत्यधिक कांड वाले सिर्फ अनुमंडलों की भी

जानकारी दी गई। प्रस्तुतीकरण में अपराध कांडो की जिला बार तुलनात्मक विवरण

प्रस्तुति की गई। अपराध वृद्धि वाले थानों की भी समीक्षा के साथ साथ कार्रवाई के संबंध में

भी जानकारी मुख्यमंत्री के समक्ष प्रस्तुत की गई। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वरीय

अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा की सभी थाना क्षेत्रों में रात्रि गश्ती को और बढ़ाने की

जरूरत है। सभी थानों में नियमित रूप से रात्रि गश्ती को सुनिश्चित करें। गश्ती  में जहां

भी शिथिलता बरती जाए संबंधित पदाधिकारी पर कड़ी कार्रवाई की जाए। मुख्यमंत्री ने

कहा वरीय अधिकारियों को स्वयं भी गश्ती करें तथा किए जा रहे गस्ती को चेकिंग भी

करें। प्रत्येक थाने में स्टेशनरी एवं अन्य सामग्री के लिए रिवाल्विंग फंड की व्यवस्था

सुनिश्चित रखें, ऐसा सिस्टम बनाएं कि थाने के अकाउंट में हमेशा राशि उपलब्ध रहें।

वरीय अधिकारियों की मौजूदगी में कई निर्देश दिये

प्रत्येक थाने में महिलाओं के लिए महिला शौचालय एवं स्नानागार की व्यवस्था रखें और

आगंतुकों के लिए कक्ष की समुचित व्यवस्था रखें।

श्री कुमार ने कहा कि सभी थानों के लैंडलाइन फोन की व्यवस्था का नियमित रखरखाव

हो। उन्होंने कहा कि विशेष शाखा को और सुदृढ़ करें जिससे सही सूचना और तेजी से प्राप्त

हो। खुफिया तंत्र के मजबूत रहने से क्राइम कंट्रोल में सहूलियत होगी। सभी प्रमुख शहरों में

सीसीटीवी स्थापना एवं हेल्पलाइन की व्यवस्था सुनिश्चित करें। सभी जोन में क्षेत्रीय

विधि विज्ञान प्रयोगशाला का क्रियान्वयन सुचारू रूप से हो।

मुख्यमंत्री ने कहा कि साइबर अपराध पर नियंत्रण के लिए सभी जरूरी कदम उठाएं। कड़ा

निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा आप सभी मुस्तैदी से काम करे। किसी प्रकार की

लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। गड़बड़ी करने वालों को चिन्हित कर उन पर कड़ी

कार्रवाई करें। मुख्यमंत्री ने जोर देकर कहा कि हर हाल में अपराध पर नियंत्रण रखें।

कोताही बरतने वाले अधिकारियों एवं कर्मियों को चिन्हित कर उन पर सख्त कार्रवाई करें।

कानून का सख्ती से पालन हो और अपराधियों में कानून का भय हो। बैठक में मुख्य

सचिव दीपक कुमार, पुलिस महानिदेशक एसके सिंघल, अपर मुख्य सचिव गृह विवाह

आमिर सुबहानी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, मुख्यमंत्री के सचिव मनीष

कुमार वर्मा, अनुपम कुमार, पुलिस महानिदेशक सीबीआई विनय कुमार, अपर मुख्य

पुलिस महानिदेशक विशेष शाखा जे एस गंगवार, पुलिस महानिदेशक लॉ एंड ऑर्डर

अमित कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक एसटीएफ सुशील खोपड़े, पुलिस महा निरीक्षक

मध निषेध अमृतराज, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह सहित कई

वरीय अधिकारी उपस्थित थे

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बिहारMore posts in बिहार »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

2 Comments

... ... ...
%d bloggers like this: