fbpx Press "Enter" to skip to content

राज्य के कोरोना कंट्रोल रुम का निरीक्षण किया हेमंत सोरेन ने

  • 181 नंबर है कं ट्रोल का हेल्पलाइन नंबर

  • आला अधिकारियों के साथ सूचना भवन में समीक्षा

रांची : राज्य के कोरोना कंट्रोल रुम का निरीक्षण करने खुद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन

पहुंचे। सूचना भवन स्थित स्टेट लेबल कोरोना कंट्रोल रूम का उन्होंने निरीक्षण किया।

श्री सोरेन ने कहा कि कोरोना के खतरों के बीच जरूरतमंदों को सहायता पहुंचाने की

दिशा में सरकार लगातार कार्य कर रही है। इसी कड़ी में कोरोना कंट्रोल रूम बनाया गया

है। इसके अंतर्गत 24 घंटे कर्मचारी-पदाधिकारी मुस्तैद हैं। तीन शिफ्टों में यहां काम

चल रहा है। इस दौरान राज्य के कोरोना कंट्रोल रुम के 181 नंबर के कार्य करने की

जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि सरकार आम लोगों को राहत देने के लिये

कृतसंकल्प है। उन्होंने कहा कि 21 दिनों तक राज्य को लॉक डाउन की स्थिति में आम

जनों को आवश्यक सेवा उपलब्ध कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि आवश्यक वस्तुओं

की आपूर्ति के लिये मुकम्मल व्यवस्था की गयी है। राज्य सरकार ने आवश्यक वस्तु

घरों तक पहुंचाने की दिशा में सुविधा केंद्रों व बिग बाजार के साथ समझौता किया है।

बाहर के राज्यों में फंसे मजदूरों के रहने-खाने आदि के लिए व्यवस्था की जा रही है। इस

दौरान आला अधिकारियों के साथ बैठक में कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के

उपाय पर मंथन किया गया।

राज्य के कोरोना कंट्रोल रुम में 40 लोगों की टीम

इस संबंध में मुख्य सचिव डॉ डीके तिवारी ने कहा कि कंट्रोल रूम में 40 लोगों की

कंप्लायंस टीम भी रोस्टर ड्यूटी के अनुसार काम कर रही है। इसमें 24 घंटे आने वाले

प्रत्येक कॉल की मोनिटरिंग किया जा रहा है। साथ ही संबंधित मामले को त्वरित रूप से

संबंधित विभाग और संबंधित जिलो को सूचित किया जा रहा है। इससे संबंधित

कार्रवाई की भी ट्रैकिंग और मॉनिटरिंग भी की जा रही है। इस अवसर पर सूचना एवं

जनसंपर्क विभाग के विशेष सचिव रमाकांत सिंह, निदेशक राजीव लोचन बख्शी,

रोस्टर ड्यूटी के अनुसार राज्य सरकार के 3 पदाधिकारी उपाध्यक्ष आरआरडीए

राजकुमार, डॉक्टर लक्ष्मण लाल, अविनाश कुमार, पुलिस उपाधीक्षक जैप दो, सूचना

एवं जनसंपर्क विभाग के पदाधिकारी भी मौजूद थे


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 Comments

Leave a Reply

Open chat
Powered by