fbpx Press "Enter" to skip to content

चंद्रवंशी क्षत्रिय महासभा की महत्वपूर्ण बैठक दुर्गा मंदिर ट्रस्ट में संपन्न

  • मुख्य चुनाव प्रभारी की अध्यक्षता में हुई बैठक

  • अध्यक्ष और महासचिव की दावेदारी अनेकों की

  • कोलकाता कोर्ट में विचाराधीन है इसका मामला

  • झारखंड के लोग महासभा के संविधान के साथ चलेंगे

राष्ट्रीय खबर

रांचीः चंद्रवंशी क्षत्रिय महासभा वर्ष 1906 में स्थापित और 1912 में निबंधित संस्था है।

वर्तमान में इसके अनेक गुट बन गये हैं। कई कारणों से एकीकृत तरीके से न तो बैठक हो

पायी है और ना ही चुनाव हो पाया है। इसी कमी को दूर करने के लिए आज एक महत्वपूर्ण

बैठक हुई।  वर्ष 2015 से विभाजित अखिल भारतवर्षीय चंद्रवंशी क्षत्रिय महासभा का

एकीकरण एवं संवैधानिक चुनाव हेतु आज चंद्रवंशी दुर्गा मंदिर ट्रस्ट पहाड़ी तला ,रांची मैं

झारखंड प्रदेश के महासभा के आजीवन सदस्य, पूर्व पदाधिकारियों, पूर्व सक्रिय एवं

साधारण सदस्यों तथा शुभचिंतकों की आम बैठक श्री बिंदेश्वरी प्रसाद सिंह राष्ट्रीय मुख्य

चुनाव प्रभारी की अध्यक्षता में संपन्न हुई।

बैठक को संबोधित करते हुए केंद्रीय चुनाव प्रभारी ने बताया की महासभा के संविधान के

अनुसार आज के दिनों में महासभा में किसी भी स्तर पर कोई संवैधानिक समिति कार्यरत

नहीं है। इसके बावजूद भी एक ही महासभा का कई लोग अपने को राष्ट्रीय अध्यक्ष और

महामंत्री होने का दावा कर रहे हैं, वह दुर्भाग्यपूर्ण है। इस संदर्भ में सिटी कोर्ट कोलकाता के

बेंच नंबर 8 दिनांक 3 मई2017 को यह आदेश पारित कर रखा है कि कोई भी डिफेंडेंट

चुनाव तो कर सकता है परंतु वह चुनाव का न तो घोषणा कर सकेगा और ना ही लागू माना

जाएगा। जब तक कि इस कोर्ट के द्वारा अनुमति नहीं दी जाती है। महासभा के मूल

संविधान में एक 1 साल एवं प्रस्तावित संशोधित संविधान में 2 वर्ष पर चुनाव कराने का

प्रावधान है किंतु 2015 के बाद से आज तक संगठन का विधिवत चुनाव नहीं हो सका है

और मामला न्यायालय में विचाराधीन है।

चंद्रवंशी क्षत्रिय महासभा की सदस्यता लें सभी इच्छुक लोग

इसलिए दिनांक 17 जनवरी 2022 को जरासंध भवन, दरोगा राय पथ ,पटना में आयोजित

आम सभा में महासभा का संवैधानिक चुनाव कराने का निर्णय लिया है। आप लोग अधिक

से अधिक महासभा का सदस्य बने और महासभा का संवैधानिक चुनाव कराने में अपना

सहयोग करें। महासभा के झारखंड प्रदेश के संयोजक श्री प्रेम वर्मा जी बताया कि

झारखंड प्रदेश अब किसी गुट के साथ नहीं चल कर महासभा के संविधान के साथ चलेगा

और अधिक से अधिक झारखंड में महासभा के संवैधानिक सदस्य बनेंगे। आज के बैठक

में सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पारित कर उन तमाम लोगों से आग्रह किया गया जो

महासभा को विभिन्न गुटों में बांट कर रखे हैं कि अपने आहम को त्याग कर अपने पूर्वजों

द्वारा बनाए गए इस ऐतिहासिक संगठन को एकजुट करने तथा संवैधानिक संकट से

बचाने के लिए आगे आएं। मुख्यधारा से जुड़े और इस संवैधानिक चुनाव में भाग ले। जो

भी लोग चुनकर आते हैं उन्हें हम सभी सम्मान करें। आज सभा मे नालंदा लोकसभा के

पूर्व प्रत्याशी श्री अशोक आजाद, केंद्रीय एकीकरण समिति के सदस्य श्री अशोक सिंह श्री,

शंकर रब्बानी, भीम रवानी, धीरेंद्र रब्बानी, डी एन सिंह, चक्रधर रवानी श्री जगदीश वर्मा

आदि लोगों ने संबोधित किया। इस आम बैठक में चंद्रवंशी दुर्गा मंदिर ट्रस्ट के

नवनिर्वाचित पदाधिकारियों में सर्व श्री जगदीश वर्मा अध्यक्ष, राजकुमार वर्मा मंत्री,

कोषाध्यक्ष मंटू वर्मा, कार्यालय सचिव सुनील वर्मा पप्पू जी को सम्मान भी किया गया।

सभा का संचालन श्री मनोज वर्मा एवं धन्यवाद ज्ञापन श्री मुन्ना लाल वर्मा जी ने किया।

समारोह को सफल बनाने में श्री बसंत कुमार चंद्रवंशी अधिवक्ता, विनोद कुमार , रवि

प्रकाश, पप्पू वर्मा, अजय वर्मा, लखन वर्मा, प्रदीप वर्मा, प्राणित वर्मा, रिंकू वर्मा, एवं अमन

वर्मा जी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from नेताMore posts in नेता »
More from रांचीMore posts in रांची »

One Comment

... ... ...
%d bloggers like this: