fbpx Press "Enter" to skip to content

सबे बरात पर लोग घरों में ही रहकर करें इबादत

  • मस्जिदों, मदरसों व कब्रिस्तान जाने की कोई भी व्यक्ति कोशिश ना करे
  • सोशल डिस्टेंसिंग का भी विशेष ध्यान रखें
  • किसी भी तिज त्योहार व उत्सव को सादगी के साथ मनाये

बेरमो : कोरोना महामारी को लेकर लॉकडाउन व सोशल डिस्टेंस के मद्देनजर मुस्लिम

समुदायों का त्योहार सबे बरात जिसे सबे ए कदर भी कहते हैं। इस त्योहार को लोग अपने

पैगम्बर हजरत मोहम्मद सल्लाहो अलैयहे व सलम के जन्मोत्सव के रुप में मनाते हैं और

उस पुरी रात खुदा की ईबादत करने के साथ साथ रात के अंतिम पहर में नजदीक के

कब्रिस्तानो में जाकर अपने मरहुम रिश्तेदारों व सभी मरहुमो के लिए मकफेरत की दुआएं

करते हैं। मदरसों, मस्जिदों, कब्रिस्तानो की साफ सफाई के साथ साथ खुब सजाय सवारा

जाता है इस दिन पुरे क्षेत्र में जलसे जुलूस का आयोजन किया जाता है। मगर लॉकडाउन

का पालन करते हुए बेरमो अनुमंडल के तमाम मस्जिद, मदरसों व मुस्लिम समुदाय के

लोगों ने सख्त निर्णय लिया है कि इस बार जैसे मदरसे, मस्जिदे बन है उसी तरह बंद रहेगे

कोई भी लोग मस्जिद मदरसे व कब्रिस्तान जाने के लिए घरो से ना निकले अपने अपने

घरो मे ही रह कर ईबादत करे। बताता चले कि यह आदेश सरकार व जिला प्रशासन की

ओर से भी जारी है कि किसी भी तिज त्योहार व उत्सव को सादगी के साथ मनाये। सोशल

डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा जाये। ज्ञात हो कि इसी लॉकडाउन के कारण पुर्व में भी

कई त्योहारों को कोरोना निगल चुका है। इधर पुरे बेरमो अनुमंडल के तमाम मस्जिदों,

मदरसों में यह ऐलान लगातार किया जा रहा है कि कोई भी व्यक्ति ईबादत के लिए घर से

बाहर ना निकले बल्कि घरो मे ही रहकर अपने रब की ईबादत करें और इस कोरोना

महामारी से देश को पूर्णत: निजात दिलाने की अल्लाह से दुआ मांगे।

सबे बरात पर आमजनों से प्रशासन को सहयोग की अपेक्षा

बालूमाथ : मुस्लिम धर्मावलंबियों के द्वारा मनाया जाने वाला इबादत का त्योहार

शबेबरात को लेकर एसडीपीओ रनवीर सिंह की अध्यक्षता में अंजुमन सुबहानुल

मुसलिमीन व प्रशासनिक पदाधिकारियों की आवश्यक बैठक मंगलवार की शाम में

बालूमाथ थाना परिसर स्थित थाना प्रभारी कक्ष में हुई। जिसमें वैश्विक महामारी कोरोना

को लेकर देशव्यापी लॉकडाउन को देखते हुए गुरुवार को शबेबरात के मौके पर सामूहिक

इबादत के लिए इकट्ठा नहीं होने का निर्णय अंजुमन के पदाधिकारियों ने लिया। साथ ही

पूरे प्रखंड व थाना क्षेत्र में निवास करने वाले धर्मावलंबियों से इस नाजुक समय में घरों में

रहकर इबादत करने की अपील भी अंजुमन के द्वारा किया गया। अंजुमन के सदर हाजी

मो शब्बीर ने मुस्लिम धर्मावलंबियों से अपनी एकता व धैर्य का परिचय देते हुए शबेबरात

के मौके पर भीड़ से बचने व घरों में रहकर ही इबादत वाली अमल को करने का आह्वान

किया। सेक्रेटरी हाजी मौलाना मो जयउल्लाह ने युवाओं से शबेबरात के मौके पर

आतिशबाजी व अन्य सामाजिक बुराईयों से बचने की ताकीद की। एसडीपीओ रनवीर सिंह

ने कहा कि प्रशासन आमजनों के सहयोग के लिए है। वैश्विक संकट के इस दौर में

आमजन का दायित्व बनता है कि प्रशासन का सहयोग करें। थाना प्रभारी सह पुलिस

निरीक्षक राजेश मण्डल ने बालूमाथवासियों की तारीफ करते हुए कहा कि यहां के लोग

काफी समझदारी रखने वाले हैं। पुलिस प्रशासन को भरपूर सहयोग मिलता आ रहा है।

अंजुमन के सदस्य एम शमीम ने कहा कि सरकार व प्रशासन के द्वारा जो भी पहल की

जा रही है, उसके अमल करने में ही आम नागरिकों का हित है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat