fbpx Press "Enter" to skip to content

श्री राम मंदिर के शिलान्यास के दिन घरों में दीपावली मनाएं – स्वामी दिव्यानंद

रांचीः श्री राम मंदिर के शिलान्यास के दिन सभी हिंदू धर्म प्रेमी अपने अपने घरों में

दीपावली मनाये। डॉ. स्वामी दिव्यानंद जी महाराज, विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय

मार्गदर्शक मंडल के सदस्य सह भारत रक्षा मंच एवं विश्व युवा हिंदू वाहिनी के प्रधान

संरक्षक, संत सुरक्षा मिशन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने विज्ञप्ति जारी कर कहा, जैसा कि

सर्वविदित है 480 वर्षों के विवाद (श्री राम जन्म भूमि से सम्बंधित) माननीय सर्वोच्च

न्यायालय के आदेश के पश्चात आगामी 5 अगस्त अपराहन 12:15 बजे श्री राम लीला के

जन्म स्थान पर मंदिर निर्माण के लिए शिलान्यास का कार्यक्रम सुनिश्चित किया गया है।

श्री राम जी जन्म अपराह्न काल अभिजीत मुहूर्त में हुआ था, 5 अगस्त को भी सवा 12

बजे, अभिजीत मुहूर्त में ही शिलान्यास का ऐतिहासक पवित्र कार्य संम्पन्न होगा। इस

समय देश भर के हिन्दू धर्मावलम्बी, साधु-सन्त, गृहस्त सभी अपने-अपने घरों में आश्रमों

में, मंदिरों में, भजन-कीर्तन, रामायण पाठ, श्री हनुमान चालीसा का पाठ इत्यादि करें, और

शाम को दीप माला प्रज्ज्वलित करें। त्रेता युग में श्री राम के 14 वर्षों के पश्चात बनवास से

लौटने पर दीपावली मनाई गई थी। अभी 480 वर्षों के बाद भगवान श्री राम का पुनः आना

इसे पुनः अवतार मानकर हम सभी अपने-अपने घरों में छतों पर, बालकोनी में, आंगन में,

अपने घरों के बाहर कम से कम 5-5 दीपक प्रज्वलित कर दीपावली का भाव मन में रखते

हुए, भगवान श्री राम के स्वागतार्थ उत्सव मनाए। स्वामी जी ने यह महत्वपूर्ण जानकारी

दी, की अयोध्या मन्दिर निर्माण कमिटी की ओर से देशभर के धार्मिक स्थल जैसे जैन

मंदिर, बौद्ध मंदिर, पवित्र सरना स्थल, गुरुद्वारा और समुद्र आदि के पवित्र जल एवं पवित्र

मिट्टी, अपने-अपने प्रदेश कार्यालय के माद्ध्यम से अयोध्या भेजी जाये।

श्री राम मंदिर में झारखंड की भी पवित्र मिट्टी भेजी जाए

झारखंड प्रदेश में यह पवित्र जल और मिट्टी 26 जुलाई पर्यन्त विश्व हिंदू परिषद के प्रांत

कार्यालय में आना सुनिश्चित हुआ है, ततपश्चात अयोध्या ले जाने की प्रक्रिया की

जाएगी। स्वामी जी ने बताया,कि लॉकडाउन को दृष्टिकोण में रखते हुए उसमें किसी प्रकार

के अनुशासन भंग ना हो, इसका ख्याल रखते हुए अपने-अपने घरों में सोशल डिस्टेंसिंग

को पालन करते हुए दीपावली मनाएं। कदाचित श्रीराम भी प्रतीक्षा कर रहे हैं अपने भक्तों

का कि वह भी बहुत उत्सुक हैं हमारे उल्लास हमारे उत्सुकता को देखकर श्रीराम भी

रोमांचित होंगे, इसी आशा के साथ हम सभी 5 अगस्त को दीपावली मनाएंगे।

[subscribe2]

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from उत्तरप्रदेशMore posts in उत्तरप्रदेश »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »

3 Comments

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: