fbpx Press "Enter" to skip to content

सीसीएल के कथारा वाशरी मे लॉकडाउन की उड़ रही है खिल्ली

  • वाशरी के पान की दुकान पर भी नियम का उल्लंघन

  • सीएमडी के निर्देश का भी यहां नहीं हो रहा पालन

  • भीड़ लगाकर एक ही स्थान पर जमे हुए लोग

बेरमो कार्यालयः सीसीएल के कथारा वाशरी में अपने ही सीएमडी गोपाल सिंह की

अपील को भी दरकिनार कर दिया गया है। सीसीएल के सीएमडी देश में फैले महामारी

को लेकर संवेदना प्रकट करते व लोगो को लॉकडाउन का सख्ती से पालन करने की

नसीहत देते नजर आते हैं मगर उन्ही का एक अंग कथारा वाशरी मे उपरोक्त तमाम

उपदेशो की खुले आम धज्जियां उड़ाई जा रही है। यह आरोप नहीं है बल्कि इसे खुली

आंखों से देखा जा सकता है। शुक्रवार की सुबह एक साथी पत्रकार द्वारा ली गईं तस्वीर

करती है। बताते चलें कि कथारा वाशरी मे ना तो कर्मियों को कोरोना से बचने के

एहतियात करते देखे जा रहे हैं और ना ही लॉकडाउन का ही कोई पालन होता दिख रहा

है। वाशरी कैन्टीन खुला रहने के साथ साथ वहां चलने वाले पान की दुकान व होटल भी

खुले देखे गए और हैरत की बात यह कि हर स्थान पर लोग जमा दिखे जबकि

लॉकडाउन के दौरान साफ निर्देश दिया गया है कि पहला तो आप घर से ही ना निकले

और किसी अनिवार्य कार्य पर जाना है तो लोगो से दूरी बनाये रखे।ऐसे तो देश के लगभग सभी औद्योगिक संस्थानों के लॉकडाउन व कोरोना को देखते

हुए छुट्टी की घोषणा कर दी है मगर वैसे कर्मियों को बहाल रखा है जिनके कार्य

अनिवार्य की श्रेणी में आता है जैसे जलापूर्ति विभाग, विद्युत विभाग, स्वास्थ्य विभाग

आदि।

परियोजना पदाधिकारी जबाव देने को तैयार नहीं

मगर सवाल उठता है कि वाशरी मे चल रहे इस तरह के उल्लंघन कार्य के दोषी कौन है।

निश्चित तौर पर परियोजना पदाधिकारी। मगर उनका पक्ष लेना इस लिए संभव नही

हुआ। वैसे भी वह अपने चहेते पत्रकारों के अलावा दूसरों से बात नहीं करते। कथारा

ओपी पुलिस को इस मामले पर गंभीरता से पहल करनी होगी नही तो यह स्थिति काफी

भयवह हालात उत्पन्न कर सकती है।

सीसीएल के वाशरी का कर्मी घायल होकर पहुंचा अस्पताल

शुक्रवार को प्रथम पाली में सीसीएल कथारा वाशरी रेलवे साइडिंग मे कार्यरत उमेश

नामक कर्मी अपने कार्य स्थल से बगल के कैन्टीन में पानी पीने जा रहा था इसी बीच

रेल पटरी के समीप उसे चक्कर आ गया और वह वही गिरकर बेहोश हो गया।

वाशरी आने जाने वाले लोगो ने जब यह नजारा देखा तो हो हल्ला मचाया इसी बीच वहां

भामंस के श्रमिक नेता सह कर्मी रामेश्वर कुमार मंडल व सर्वजीत कुमार पांडेय वहां

पहुचे और वाशरी की ही एक वाहन से घायल कर्मी को सीसीएल कथारा क्षेत्रीय

अस्पताल पहुंचाया जहां डाक्टरों द्वारा उसका इलाज समाचार लिखे जाने तक जारी

था।

डाक्टरों के अनुसार उमेश के सर पर गिरने के कारण चोट लगी है मगर खतरे की कोई बात नहीं है। बताता चलूं कि सीसीएल कथारा वाशरी जैसे विशाल वाशरी मे सैकड़ों कर्मी प्रत्येक पाली में काम करते हो मगर दुर्घटना के बाद कर्मियों को अस्पताल तक पहुचाने के लिए फिलहाल की स्थिति में

वाशरी प्रबंधन के पास एक अदद एम्बुलेंस तक नहीं। कर्मियों की जान यहां राम भरोसे

कहा जाये तो गलत नही होगा।घटना की सूचना पा कर कथारा ओपी प्रभारी युधिष्ठिर

महतो कथारा अस्पताल पहुचे और मामले की छानबीन की।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

5 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!