सीबीआइ अधिकारियों को कोलकाता पुलिस ने हिरासत में लिया

सीबीआइ अधिकारियों को कोलकाता पुलिस ने हिरासत में लिया
Spread the love
  • 23
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    23
    Shares
  • राज्य और केंद्र सरकार की लड़ाई अब सड़क पर उतरी

  • चालीस अफसरों का दल पहुंचा था रेड में

  • कोलकाता पुलिस ने पांच को हिरासत में लिया

  • कुछ अफसरों को धक्का देकर ले गयी पुलिस

एस दासगुप्ता

कोलकाताः सीबीआइ अधिकारियों के एक दल को आज कोलकाता पुलिस ने ही हिरासत में ले लिया है।

इसे लेकर राजनीति गरमा गयी है।

राज्य सरकार और भाजपा की केंद्र सरकार की लड़ाई आज पुलिस वनाम सीबीआइ में तब्दील हो गयी।

कोलकाता के पुलिस आयुक्त राजीव कुमार के घर छापा मारने पहुंची सीबीआइ टीम को कोलकाता पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।

चर्चा है कि सीबीआइ के कोलकाता स्थित कार्यालय के संयुक्त निदेशक जयंत कुमार भी इसकी चपेट में आ गये हैं।

उल्लेखनीय है कि कोलकाता के पुलिस आयुक्त राजीव कुमार पर सारदा चिट फंड घोटाले के मामले में

सीबीआइ की कार्रवाई की चर्चा पहले से ही हो रही थी।

सोशल मीडिया में चल रही इसी चर्चा के आधार पर कोलकाता पुलिस ने एक खंडन और चेतावनी संदेश भी जारी किया था।

इसी क्रम में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी इसे केंद्र द्वारा

तमाम जांच एजेंसियों के राजनीतिक इस्तेमाल का हथकंडा बताया था।

उन्होंने कोलकाता के पुलिस आयुक्त को एक योग्य और  बेहतर अधिकारी भी कहा था।

पुलिस की तरफ से यह स्पष्टीकरण और चेतावनी संदेश जारी होने के तुरंत बाद सीबीआइ के अधिकारी

श्री कुमार के आवास पर छापा मारने पहुंच गये।

सीबीआइ का अपना कार्यालय भी अब पुलिस की घेराबंदी में

इसकी सूचना पर कोलकाता पुलिस ने भी पूरे इलाके को घेर लिया और बिना थाना को सूचना दिये

वहां पहुंचे अधिकारियों को हिरासत में ले लिया।

छापामारी करने गये दल में सीबीआइ के 40 लोग थे।

इनमें से सिर्फ पांच लोगों को अभी हिरासत में लिया गया है।

अपुष्ट जानकारी के अनुसार इस छापामारी दल में सीबीआइ के कई वरिष्ठ अधिकारी भी थे।

जिन्हें धक्का देते हुए वहां से थाना ले जाया गया है।

मजेदार बात यह है कि इस घटना के संबंध में सीबीआइ अपनी तरफ से नईदिल्ली से जानकारी जारी कर रही है

जबकि कोलकाता पुलिस अपने मुख्यालय पर सतर्क है।

पुलिस और सीबीआइ के बीच का यह टकराव पहली बार देखा जा रहा है।

इसके पूर्व चारा घोटाला के मामले में राकेश अस्थाना को भी राबड़ी देवी के यहां छापा मारने के लिए अर्धसैनिक बलों की मदद लेनी पड़ी थी।

लेकिन तब भी स्थिति इतनी नहीं बिगड़ी थी।

सीबीआइ की अनुमति बंगाल ने वापस ले ली है

वैसे मालूम रहे कि पश्चिम बंगाल सरकार ने अपनी उस अनुमति को पहले ही वापस ले लिया है

जिसके तहत सीबीआइ पश्चिम बंगाल में स्वतंत्र रुप से काम कर सकती है।

ऐसे में सीबीआइ ने छापा मारने के पहले राज्य सरकार को विधिवत सूचना दी है अथवा नहीं यह अब तक स्पष्ट नहीं हो पाया है।

अंतिम समाचार मिलने तक पुलिस कमिशनर के घर से टलने पर सीबीआइ अधिकारी राजी नहीं थे।

जिसके बाद पुलिस ने उन्हें जबरन वहां से धक्का मारकर निकाला।

पुलिस कमिशनर के यहां जबरन घुसने की कोशिश में यह हाथापाई हुई।

उसके बाद सीबीआइ अधिकारियों को शेक्सपियर सरनी थाना लाया गया है।

कोलकाता पुलिस ने अब अपने पुलिस आयुक्त के घर के साथ साथ जांच एजेंसी के कार्यालय को भी घेर लिया है।

इस वजह से कार्यालय में मौजूद अधिकारी और अफसर भी बाहर नहीं निकल पा रहे हैं।

दूसरी तरफ इस घटना की सूचना पाकर खुद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी घटनास्थल पर पहुंच गयी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.