Browsing Category

संपादकीय

शेयर बाजार की उल्टी चाल

शेयर बाजार का कारोबार भी बड़ा अजीब है। दुनिया में किसी भी स्थान पर आर्थिक मोर्चे पर कोई दिक्कत आयी तो दुनिया भर के शेयर बाजारों पर इसका तुरंत असर दिखने लगता है। इस बार भी भारतीय शेयर बाजार अचानक धराशायी हो गया। वैसे पिछले दस वर्षों में शेयर…

नीरव मोदी भी विजय माल्या की राह पर ? कैसी है भारतीय बैंकों की कर्ज व्यवस्था

विजय माल्या के बाद नीरव मोदी प्रकरण ने भारतीय बैंकों की असलियत सामने ला दी है। जो सूचनाएं अब तक सार्वजनिक हुई हैं, उसके मुताबिक ग्यारह हजार करोड़ के फर्जीवाड़े में आरोपित नीरव मोदी पहले ही देश छोड़कर चले गये हैं। उनके भारत से जाने के बारे में…

आधार कार्ड की जालसाजी पर जांच जरूरी

पूरे देश में फिर से आधार कार्ड पर बहस छिड़ रही है। पूर्व में सरकार की कई एजेंसियां इस आधार कार्ड को हर मामले में अनिवार्य बनाने की वकालत करती आयी है। कुछ में आधार कार्ड को अब अनिवार्य भी बना दिया गया है। लेकिन इस बारे में जो कुछ नये नये तथ्य…

शराबबंदी पर सरकार की अलग सोच क्यों

बिहार में पूर्ण शराबबंदी के लागू होने के बाद से ही देश के कई राज्यों में शराबबंदी लागू करने की मांग को लेकर आन्दोलन हो रहे हैं। खास बात यह है कि इन तमाम आन्दोलनों में महिलाओं की प्रमुख भूमिका है। इसमें शक की कोई गुंजाइश भी नहीं है कि शराब…

स्कूल में फर्जी छात्रों के लिए जिम्मेदार कौन

भला हो सूचना तकनीक का, जिसने झारखंड के स्कूलों में पढ़ने वाले 2.2 लाख फर्जी छात्रों का पता लगा लिया। इस मामला के पकड़ में आने के बाद अब विभागीय मंत्री ने मामले की शीघ्रता से जांच के आदेश तो दे दिये हैं। लेकिन इससे बड़ी बात है कि इस किस्म के…

योगी के बहाने मोदी पर निशाना साधने की साजिश

उत्तर प्रदेश के नये मुख्यमंत्री कुछ भी कर रहे हैं तो उसे मीडिया में इतनी प्रमुखता के साथ प्रचारित किया जा रहा है मानों कोई अनहोनी घटना घटित हो रही है। आम तौर पर मुख्यमंत्री जब बिगड़ी स्थिति को सुधारने की पहल करते हैं तो यह स्थिति सुधारने की…

योगी के सरकार में आने के असली मायने

कई कारण हो सकते हैं जिनकी वजह से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पसंद को दरकिनार कर योगी आदित्यनाथ को उत्तरप्रदेश का मुख्यमंत्री बनाने का फैसला लिया है।

दोस्त, दोस्त ना रहा, प्यार प्यार ना रहा. ..

इस जमाने की फिल्म है और वह भी फिल्म के हीरो आमीर खान हैं। इस फिल्म में कॉलेज की पढ़ाई के अंतिम दिन फिल्म का यह गीत अपने डॉयलॉग के साथ ही काफी प्रसिद्ध हुआ। अब भी अनेक कॉलेजों में अंतिम दिन इसे इसी तरह दोहराया भी जाता है। अब उत्तर प्रदेश का…

जमीन लेने की सोच बदलनी ही होगी

मोमेंटम झारखंड में उत्पन्न ऊर्जा फिर से घटने लगी है। बहुचर्चित अडानी पावर प्लांट को लेकर गोड्डा की घटना इसका जीता जागता प्रमाण है। सरकार ने देश विदेश के उद्योगपतियों को इस बात के लिए आश्वस्त किया था कि जमीन की कोई समस्या झारखंड में नहीं…

दवा के कारोबार पर गिफ्ट पर रोक जरूरी

फिल्म अभिनेता आमीर खान के टीवी शो सत्यमेव जयते में भी चिकित्सीय जांच के बारे में खुलकर यह बात सामने आयी थी कि जांच प्रयोगशालाओं को भी अपना कारोबार चलाने के लिए डाक्टरों को कमिशन देना पड़ता है।