fbpx Press "Enter" to skip to content

बस कंडक्टर से महानायक बने रजनीकांत भी प्रेरणादायक

  • जन्मदिवस 12 दिसंबर के अवसर पर

  • असली नाम शिवाजी राव गायकवाड
  • बचपन से ही अभिनय का शौक था
  • रंगमंच पर भी काफी काम किया है

मुंबईः बस कंडक्टर अपने करियर की शुरूआत कर दक्षिण भारतीय

फिल्मों के महानायक बनने वाले रजनीकांत को यह मुकाम पाने के

लिये कड़ा संघर्ष करना पड़ा। वर्ष 1950 में 12 दिसंबर को बेगलूरू में

जन्में रजनीकांत मूल नाम शिवाजी राव गायकवाड बचपन के दिनो से

हीं फिल्म अभिनेता बनना चाहते थे। शुरूआती दौर में रजनीकांत ने

बस कंडक्टर के रूप में काम किया। इस दौरान रजनीकांत ने रंगमंच

पर कुछ नाटकों में अभिनय भी किया। इसी दौरान तमिल फिल्मों के

मशहूर निर्देशक के.बालचन्द्र ने एक नाटक में रजनीकांत के अभिनय

से काफी प्रभावित हुये। वर्ष 1975 में के.बालचंद्र के निर्देशन में बनी

तमिल फिल्म अपूर्वा रागांगल से रजनीकांत से अपने सिनेमा करियर

की शुरूआत की। इस फिल्म में कमल हसन ने मुख्य भूमिका निभायी

थी। वर्ष 1978 में प्रदर्शित तमिल फिल्म भैरवी में रजनीकांत को बतौर

मुख्य अभिनेता के रूप में पहली बार काम करने का अवसर मिला। यह

फिल्म टिकट खिड़की पर सुपरहिट साबित हुयी साथ हीं रजनीकांत भी

सुपरस्टार बन गये।

वर्ष 1980 में रजनीकांत की एक और सुपरहिट फिल्म बिल्ला प्रदर्शित

हुयी। बिल्ला अमिताभ की सुपरहिट फिल्म डॉन की रिमेक थी।

वर्ष 1983 में प्रदर्शित फिल्म अंधा कानून के जरिये रजनीकांत ने

बॉलीवुड में भी कदम रख दिया। इस फिल्म में रजनीकांत की भूमिका

ग्रे शेडस लिये हुये थी। दर्शकों को रजनीकांत का अंदाज काफी पसंद

आया। अंधा कानून टिकट खिड़की पर सुपरहिट साबित हुयी। इसी

दौरान रजनीकांत ने जॉन जॉनी जर्नादन में तिहरी भूमिका निभायी

हालांकि यह फिल्म टिकट खिड़की पर कोई करिश्मा नही दिखा सकी।

90 के दशक में रजनीकांत दक्षिण भारतीय फिल्मों के महानायक बन

गये। इस दौरान रजनीकांत ने जितनी भी फिल्मों में काम किया सभी

ने टिकट खिड़की पर शानदार प्रदर्शन किया।

बस कंडक्टर से सफर शुरु कर मुंबई तक पहुंचे

वर्ष 2002 में रजनीकांत की महात्वाकांक्षी फिल्म बाबा प्रदर्शित हुयी

हालांकि यह फिल्म बॉक्स ऑॅफिस पर ढ़ेर हो गयी। बाबा का स्क्रीनप्ले

रजनीकांत ने खुद तैयार किया था। वर्ष 2005 में प्रदर्शित फिल्म

चंद्रमुखी से रजनीकांत ने एक बार फिर से अपनी शानदार वापसी की।

वर्ष 2007 में रजनीकांत की फिल्म शिवाजी द बॉस प्रदर्शित हुयी। इस

फिल्म ने टिकट खिड़की पर सफलता के नये कीर्तिमान स्थापित

किये।

शिवाजी द बॉस भारतीय सिनेमा के इतिहास की पहली फिल्म बनी

जिसमें हॉलीवुड की रेजोल्यूशन तकनीक का इस्तेमाल किया गया।

वर्ष 2010 में रजनीकांत की फिल्म रोबोट प्रदर्शित हुयी। इस फिल्म में

रजनीकांत के अपोजिट ऐश्वर्या राय थी। रोबोट ने 255 करोड़ रूपये से

अधिक की कमाई कर नया इतिहास रच दिया।

रोबोट रजनीकांत की तमिल फिल्म इंथीरन का हिंदी वर्जन था। वर्ष

2014 में रजनीकांत की दो फिल्में कोचादाइयां और लिंगा प्रदर्शित हुयी

हालांकि दोनो फिल्में टिकट खिड़की पर कोई खास कमाल नही दिखा

सकी।

वर्ष 2018 में रजनीकांत की सुपरहिट फिल्म रोबोट 2 प्रदर्शित हुयी।

रजनीकांत इन दिनों फिल्म दरबार में काम कर रहे हैं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from जीवन शैलीMore posts in जीवन शैली »

2 Comments

Leave a Reply

Open chat
Powered by