Press "Enter" to skip to content

बीएसएफ ने किया गौ तस्करों के नये कारनामे का भंडाफोड







  • नदी में केला के पेड़ बांधकर भेजे जा रहे हैं मवेशी
प्रतिनिधि

मालदाः बीएसएफ ने गौ तस्करों के नये कारनामे का भंडाफोड़ कर दिया है।

सीमा पर गौ तस्करी पर जोरदार नजरदारी की वजह से इन तस्करों ने नये तरीके से

मवेशी भेजने का तरकीब आजमाया था।







नदियों पर भी लगातार नजर गड़ाये सीमा सुरक्षा बल के जवानों को यह परिस्थिति

कुछ अजीब लगी थी।

नजदीक से जब इसका मुआयना किया गया तो पूरा राज खुल गया।

बीएसएफ के साउथ बंगाल फ्रंटियर बल का दावा है कि शोभापुर सीमा पर नदी से 123 गौवंश को जब्त किया गया है।

लेकिन इन मवेशियों को जब्त करने के बाद भी इन्हें नदी में किनलोगों ने इस तरीके से छोड़ा था, उसका पता नहीं चल पाया है।

गाय तस्करी रोकने के लिए बीएसएफ और पुलिस इनदिनों अत्यधिक सतर्क है।

इसी क्रम में बीएसएफ के डीआइजी ने पूरे घटनाक्रम की जानकारी आज दी है।

उन्होंने कहा कि शोभापुर के पास से ही गंगा नदी का प्रवाह है।

इसी प्रवाह में गौ तस्कर गाय के दोनों तरफ केले का पेड़ बांधकर उन्हें नदी में छोड़ रहे हैं।

केले का पेड़ बंधा होने की वजह से मवेशी पानी में डूबते नहीं हैं

और धीरे धीरे दूसरे छोर पर बांग्लादेश के इलाके में पहुंच जाते हैं।

बीएसएफ ने स्पीड बोट की मदद से नजदीक से राज का पता लगाया

समझा जाता है कि बांग्लादेश की सीमा पर इन मवेशियों की गतिविधियों पर गौ तस्कर नजर रखते हैं।

अपने करीब पहुंचने पर वे नदी से मवेशियों को बाहर निकाल लेते हैं।

यह कारोबार हाल ही में प्रारंभ हुआ है क्योंकि इससे पहले इस किस्म की गतिविधियां नजर में नहीं आयी थी।

इस बारे में कार्रवाई करने के दौरान बीएसएफ की टुकड़ियों को नदी में करीब दो सौ गाय नजर आयी थी।

इन्हें शोभापुर के आस पास के पाहाघांटी, फुलतला, लालपुर, धानघोरा, कलामपुर और धुलियान इलाके

से नदी में छोड़ा गया है।

नजर आने के बाद बीएसएफ ने स्पीडबोट की मदद से 123 गायों को जब्त कर

जमीन पर लाने में सफलता पायी है।



Spread the love
  • 4
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  
    4
    Shares

Be First to Comment

Leave a Reply

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com