Press "Enter" to skip to content

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री जॉनसन ने कहा ब्रेक्जिट में देरी की बजाए मरना पसंद करूंगा




लंदनः ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अपनी ब्रेक्जिट नीति पर अडिग रहने का संकल्प लेते हुए

कहा है कि यूरोपीय संघ से ब्रेक्जिट की समयसीमा को 31 अक्टूबर से आगे बढ़ाने की बजाए

वह खाई में मरना पसंद करेंगे। श्री जॉनसन ने कहा कि वह बिना किसी समझौते की

अपनी ब्रेक्जिट नीति पर कायम हैं और इसके लिए पूरी तरह से तैयार हैं,

लेकिन लेबर पार्टी ने कहा है कि बिना किसी समझौते वाली ब्रेक्जिट नीति को रोकना ही उनकी प्राथमिकता है।

प्रधानमंत्री के छोटे भाई जो जॉनसन ने अपने एक बयान में कहा कि वह एक मंत्री

और सांसद के रूप में इस्तीफा दे रहे हैं।

ब्रिटेन के सांसदों ने बुधवार को प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के उस प्रस्ताव को खारिज कर दिया जिसमें 15 अक्टूबर को देश में आम चुनाव कराने की मांग की गई थी।

इससे पहले मंगलवार रात ब्रिटेन की संसद में श्री जॉनसन की ब्रेक्जिट नीति (ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से बाहर होने की

प्रक्रिया) को उस समय तगड़ा झटका लगा जब सत्तारूढ़ कंजर्वेटिव पार्टी के बागी सांसदों ने विपक्षी सांसदों के साथ मिलकर सरकार को संसद में पराजित कर दिया।

गौरतलब है कि श्री जॉनसन ने अपने एक बयान में कहा था कि

किसी भी परिस्थिति में 31 अक्टूबर तक ब्रिटेन बिना किसी समझौते के यूरोपीय संघ से अलग हो जाएगा।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री के दो प्रस्ताव हुए हैं खारिज

ब्रिटिश पार्लियामेंट में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के दोनों प्रस्ताव खारिज हो चुके हैं।

उन्होंने पहला प्रस्ताव ब्रेक्जिट पर दिया था। इसमें हुए वोटिंग में वह पराजित हो गये।

इससे नाराज होकर उन्होंने निर्धारित समय से पूर्व ही चुनाव कराने का प्रस्ताव रख दिया था।

ब्रिटिश सांसदों ने इस प्रस्ताव को भी बहुमत से खारिज कर दिया है।

इस वजह से अब माना जा रहा है कि अपने प्रस्ताव को लेकर आगे बढ़ने के लिए जॉनसन नये सिरे से सांसदों पर दबाव बना रहे हैं

ताकि यूरोपियन यूनियन से बाहर आने का उनका प्रस्ताव उनके मुताबिक ही पारित किया जा सके।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  
More from Hindi NewsMore posts in Hindi News »
More from बयानMore posts in बयान »

Be First to Comment

Leave a Reply