fbpx Press "Enter" to skip to content

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री जॉनसन के जल्द चुनाव के प्रस्ताव को मिली पहली कामयाबी

लंदनः ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के देश में जल्द ही दिसंबर

में चुनाव कराने के प्रस्ताव को संसद की प्रारंभिक स्वीकृति मिल गयी है।

श्री जॉनसन के विधेयक में 12 दिसंबर को आम चुनाव कराने का प्रस्ताव

है, जिसने मंगलवार को दो महत्वपूर्ण पड़ाव पार कर लिए हैं और पारित

होने से महज एक कदम ही दूर है।

सवाल केवल इस बात का है कि चुनाव नौ दिसंबर को होंगे अथवा 12

दिसंबर को। यह विधेयक पारित हो जाने के बाद हाउस ऑफ लार्ड्स

में जाएगा। विपक्ष के नेता जेरेमी कॉर्बिन ने कहा है कि वह क्रिसमस

से पूर्व चुनाव के लिए तैयार हैं। संसद ने प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन

के 12 दिसंबर को देश में आम चुनाव कराने के प्रस्ताव को सोमवार को

खारिज कर दिया था। इससे पहले यूरोपीय संघ (ईयू) ब्रिटेन के अनुरोध पर

ब्रेक्जिट की समयसीमा बढ़ाने पर सहमत हो गया है। यूरोपीय परिषद के

अध्यक्ष डोनाल्ड टस्क ने सोमवार को बताया कि ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से

अलग होने की प्रक्रिया (ब्रेक्जिट) की समयसीमा को अब 31 अक्टूबर से

बढ़ाकर 31 जनवरी 2020 कर दिया गया है। श्री टस्क ने ट्वीट किया, ‘‘

यूरोपीय संघ इस बात पर सहमत हुआ है कि ब्रिटेन के ब्रेक्जिट की समय

सीमा को बढ़ाने के अनुरोध को स्वीकार किया जाएगा। इस निर्णय पर

लिखित प्रक्रिया के तहत कार्रवाई की जाएगी।’’

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री को इससे पहले परेशान होना पड़ा था

ब्रिटेन की संसद ने इससे पहले प्रधानमंत्री बोरिस जानसन के कई प्रस्तावों

को साफ तौर पर नकार दिया था।  इससे ब्रेक्जिट के मुद्दे पर वह खुद भी

काफी परेशानी की स्थिति में आ गये थे। ब्रेक्जिट के मुद्दे पर वहां के

प्रधानमंत्री लगातार परेशानियां झेल रहे हैं। यूरोपियन यूनियन से बाहर

आन के प्रस्ताव को अब तक इसी वजह से अमली जामा नहीं पहुंचाया जा

सका है। ब्रिटेन का मानना है कि इस विलय जैसी कार्रवाई से उसकी अपनी

अर्थनीति पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat