fbpx Press "Enter" to skip to content

सीमा पर हत्या रोकने के मुद्दे पर बीएसएफ और बीजीबी सहमत

  • भारत की तरफ से राकेश अस्थान थे बैठक में

  • चार दिन की बैठक के बाद संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस

  • जानलेवा हथियारों के इस्तेमाल पर रोक का फैसला

  • भारत बांग्लादेश सीमा पर कोई हत्या नहीं हो की चर्चा

अमीनूल हक

ढाकाः सीमा पर हत्या रोकने के मुद्दे पर भारतीय सीमा सुरक्षा बल और बांग्लादेश के बीजीबी सहमत है। दोनों पक्षों की

आज यहां हुई बैठक में सीमा पर हत्या के आंकड़ों को शून्य पर ले जाने पर सहमति जतायी गयी है। यहां दोनों देशों के

सीमा प्रहरी संगठनों का यह चार दिवसीय सम्मेलन आज

समाप्त हुआ है। इस बैठक में अन्य मुद्दों पर भी विस्तार से चर्चा

हुई है। इसके लिए दोनों तरफ की संयुक्त पहरेदारी जैसे विषयों

पर भी सहमति बनी है।

बांग्लादेश बॉर्डर गार्ड और बॉर्डर सिक्युरिटी फोर्स के 

महानिदेशक स्तर की इस बैठक में कुछ और गंभीर फैसले भी

लिये गये हैं। इस सम्मेलन की समाप्ति के बाद बीजीबी के डीजी मेजर जनरल मोहम्मद सफीनूल इस्लाम और

बीएसएफ के डीजी राकेश अस्थाना ने संयुक्त तौर पर पत्रकार सम्मेलन को भी संबोधित किया है।

इसमें भी खास तौर पर सीमा पर हत्या रोकने पर ही अधिक बल दिया गया है। दोनों महानिदेशक स्तर के अधिकारियों

ने कहा कि हमलोग संयुक्त तौर पर सीमा पर हत्या के आंकड़ों को शून्य पर ले जाना चाहते हैं। सीमा पर पहरेदारी करने

की मुख्य जिम्मेदारी दोनों देशों के इन्हीं सुरक्षा बलों पर है। दोनों संगठन बेहतर संबंध बनाने और एक दूसरे के प्रति

भरोसा कायम करने की दिशा में लगातार प्रयास करने पर भी सहमत हुए हैं।

सीमा पर हत्या के अलावा भी कुल 14 फैसले हुए

सीमा पर हत्या के अलावा कुल मिलाकर इस चार दिनों की बैठक में 14 महत्वपूर्ण फैसले लिये

गये है । यह तय किया गया है कि पूर्व निर्धारित विषयों के अलावा भी कई अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई

है, जो बैठक की कार्यसूची में पहले से शामिल नहीं थे।

भारतीय दूतावास के हवाले से जानकारी मिली है कि दोनों सेनाओं के जानलेवा हथियारों का

प्रयोग सीमित करने पर सहमति जतायी है। क्रमवार तरीके से इस सीमा पर ऐसे हथियारों

का प्रयोग होगा, जिससे किसी की जान नहीं जाएगी। निहत्थे, निर्दोष और मानव तस्करी

के शिकार लोगों को दोनों देशों की सेना एक दूसरे के सुपुर्द करेगी। 

इसके अलावा मानसिक अक्षमता वाले लोगों की राष्ट्रीयता निर्धारित करने के लिए एक स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिडियोर

भी तैयार किया जाएगा। इसमें खुफिया सूचनाओं के आदान प्रदान पर भी चर्चा हुई है। साथ ही सीमा क्षेत्र में रहने वाले

ग्रामीणों के लिए इधर से उधर जाने की प्रक्रिया भी सरल करने पर सहमति बनी है। दोनों देश सीमा पर तस्करों के

खिलाफ कठोर रवैया रखते हुए एक दूसरे के साथ सूचना सांझा करने के साथ साथ संयुक्त तौर पर अभियान भी

चलायेंगे, ऐसी सहमति भी इस बैठक में बनी है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from कूटनीतिMore posts in कूटनीति »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बांग्लादेशMore posts in बांग्लादेश »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!