Press "Enter" to skip to content

बुस्टर डोज दरअसल एक घोटाला है, बंद होः डब्ल्यूएचओ




जेनेवाः बुस्टर डोज के बारे में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अपनी बात से पूरी दुनिया को चौंका दिया




है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस दवा के खेल को एक बहुत बड़ा घोटाला बताते हुए उसे तत्काल बंद

करने की हिमायत की है। दरअसल डब्ल्यूएचओ का यह बयान तब आया है जबकि भारत सहित कई

देशों में इसे देने की व्यापक तैयारियां चल रही हैं। इस संगठन के महानिदेशक टेड्रोस एडहारोम

घ्रेबायूएस ने कहा कि इस बारे में जो कुछ सूचनाएं मिली हैं, उसके आधार पर ही बड़ी जिम्मेदारी के

साथ इस कोरोना डोज को बंद करने की सलाह दी गयी है। अमेरिका सहित कई देश मसलन जर्मनी,

इजरायल और कनाडा में यह बुस्टर डोज इस्तेमाल किया जा रहा है। लेकिन उसके फायदों की जांच

आम उपभोक्ता को होने का कोई रिकार्ड नहीं है। उन्होंने कहा कि दुनिया की बहुत बड़ी आबादी को

अभी कोरोना वैक्सिन के पहले डोज का इंतजार है। ऐसे में बुस्टर डोज की गुणवत्ता के प्रमाणित

होने का कोई सवाल ही नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि जिन उन्नत देशों में टीकाकरण अभियान

बहुत तेज हैं, वहां भी वैक्सिन का भंडारण का जा रहा है। इसकी वजह से गरीब देशों तक वैक्सिन




पहुंच भी नहीं पा रहा है। अभी कोरोना वैक्सिन के जो आंकड़े उपलब्ध हैं उसके मुताबिक गरीब देशों

में हर दिन जितने पहली डोज पड़ रहे हैं, उससे छह गुणा अधिक बुस्टर डोज विकसित देशों में लगने

लगा है।

बुस्टर डोज का कोई फायदा नहीं जबकि पूर्ण टीकाकरण नहीं होता

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी दी है कि जब तक पूरी दुनिया को इस वैक्सिन के दोनों डोज नहीं

लग जाते हैं तो बचाव चक्र के फिर से टूटने का खतरा तो यथावत बना ही रहता है। यह स्थिति और

भी गंभीर इसलिए हो जाती है क्योंकि अब व्यापारिक गतिविधियों को हर जगह बढ़ावा दिया जा रहा

है। अधिक से अधिक इलाके खोले जा रहे हैं, जहां लोगों की भीड़ लगी रहती है। ऐसे में बुस्टर डोज का

कोई फायदा होने का रिकार्ड मौजूद नहीं होने के बाद भी अनेक देशों में इस बुस्टर डोज के लिए

माहौल बनाया जा रहा है, जो गलत है और सिर्फ व्यापारिक लाभ के लिए इसे प्रचारित किया जा रहा

है।



More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from विश्वMore posts in विश्व »

One Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: