fbpx Press "Enter" to skip to content

स्कूलों में सोशल डिस्टेंसिग के साथ हो रही किताबों की बिक्री

रांची : स्कूलों में जिला प्रशासन के निर्देश के बाद किताबों की बिक्री शुरू की गई है।

राजधानी के तमाम स्कूलों में सोशल डिस्टेंसिंग का पाजल करते हुए किताबों की बिक्री हो

रही है। गौरतलब है कि जिला प्रशासन द्वारा दिए गए निदेर्शों का पालन राजधानी के

स्कूलों द्वारा किया जा रहा है। कोरोना महामारी के मद्देनजर राजधानी रांची के तमाम

शिक्षण संस्थान बंद हैं। विद्यार्थियों को पठन-पाठन में परेशानी न हो इसे देखते हुए राज्य

के तमाम स्कूलों द्वारा ऑनलाइन क्लासेस ली जा रही हैं। लेकिन इसमें सबसे अहम बात

यह है कि ऑनलाइन क्लासेस में भी बच्चों को किताबों की जरूरत पड़ रही है। जिसके लिए

जिला प्रशासन द्वारा तमाम स्कूलों को सोशल डिस्टेंस मेंटेन कराते हुए बच्चों के बीच

किताब वितरण की अनुमति दी गई है, जिसे निर्देशानुसार बखूबी निभाया जा रहा है।

स्कूलों में गाइड लाइन का हो रहा पालन

रांची के निजी स्कूलों द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है। गौरतलब है कि

जिला प्रशासन द्वारा तमाम स्कूलों को सोशल डिस्टेंस मेंटेन करने को लेकर एक विशेष

गाइडलाइन जारी किया गई है और इसी गाइडलाइन के तहत स्कूल प्रबंधकों द्वारा किताबें

मुहैया कराई जा रही हैं। सोमवार से शुरू हुई इस प्रक्रिया को लेकर अधिकतर स्कूल

प्रबंधक काफी सजग दिखे। स्कूल गेट से लेकर किताब वितरण तक के स्थान को भी

सैनिटाइज कर रखा गया है और सभी को सनीटाइज़ करवा कर वितरण किया जा रहा है।

पहले सेनेटाइज, फिर मुहैया हो रही हैं किताबें

किताब मुहैया कराने से पहले अभिभावकों के हाथ सैनेटाइज किए जा रहे है। उसके बाद ही

सिग्नेचर करने दिया जा रहा है। कुल मिलाकर कहें तो तमाम स्कूलों में सोशल डिस्टेंसिंग

का खास ख्याल रखा जा रहा है। किसी भी तरह की कोताही नहीं बरती जा रही है। जिसपर

जिला प्रशासन अपनी पैनी नज़र टीका कर रखी है और चूक न हो इसपर सतर्क है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from कामMore posts in काम »
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from देशMore posts in देश »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from व्यापारMore posts in व्यापार »
More from स्वास्थ्यMore posts in स्वास्थ्य »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!