fbpx Press "Enter" to skip to content

बंधुआ मजदूरी से मुक्त लोगों व भिक्षुकों को मुफ्त कम्बल वितरण

गिरिडीहः बंधुआ मजदूरी से मुक्त लोगों के संबंध में उपायुक्त-सह-जिला दंडाधिकारी के

द्वारा जानकारी दी गई कि सरकार के प्रधान सचिव, महिला, बाल विकास एवं सामाजिक

सुरक्षा विभाग द्वारा प्राप्त निर्देश के अनुसार वर्ष 2020-21 में गरीबी रेखा से नीचे जीवन

बसर कर रहे व्यक्तियों यथा वृद्ध, दिव्यांगो, भूमिहिनो, बंधुआ मज़दूरी से मुक्त कराए गए

लोगों तथा भिक्षुकों को जाड़े में ठंड से बचाव हेतु मुफ्त कम्बल वितरण हेतु विभाग से

आवंटन प्राप्त हुआ है। गिरिडीह जिला में सामाजिक सुरक्षा योजना अंतर्गत वस्त्र वितरण

कार्यक्रम के तहत वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए जिला में निर्धन, अपंग, विधवा, भूमिहीन

तथा भिक्षुकों के बीच मुफ्त कम्बल वितरण करने हेतु एनईएमएल के माध्यम से निविदा

या रिवर्स एक्शन के द्वारा क्रय किया जाना है। क्रय किए जाने वाले कम्बलों की संख्या

49,900 तय किया गया है। आगे उन्होंने बताया कि आपूर्ति किए जाने वाले कम्बलों की

विशिष्टता एवं गुणवत्ता सुनिश्चित कराई जाएगी। आपूर्ति किए जाने वाले कंबलो की

साइज 90×60 , वजन:- 2 किग्रा न्यूनतम तथा 3″×3″ डायमेंशन का झारखंड सरकार का

महिला बाल विकास एवं सामाजिक सुरक्षा विभाग, रांची का लोगो लगवाना अनिवार्य

होगा। इसके अलावा माननीय सांसद/माननीय विधायक तथा त्रिस्तरीय ग्राम/नगर

निकाय के निर्वाचित प्रतिनिधिगण की उपस्थिति में कंबल वितरण सुनिश्चित किया

जाएगा। निविदा से संबंधित शर्त एवं विस्तृत जानकारी तथा कम्बल का नमूना का

अवलोकन जिला की वेबसाइट पर आवेदन कर सकते हैं।

बंधुआ मजदूरी से मुक्त लोगों के अलावा भी मिलेगा कंबल

उपायुक्त द्वारा सहायक उपाध्यक्ष, एन ई एम एल को निर्देशित किया गया कि कंबलों की

आपूर्ति हेतु रिवर्स एक्शन से संबंधित कारवाई ससमय संपन्न कराना सुनिश्चित किया

जाए। निर्धारित विशिष्टयों के अनुरूप पाए जाने पर ही कम्बल आपूर्ति का आदेश दिया

जाएगा और आपूर्ति के विरूद्ध भुगतान किया जाएगा।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from गिरिडीहMore posts in गिरिडीह »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राज काजMore posts in राज काज »

Be First to Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: