fbpx Press "Enter" to skip to content

बम फेंकने वालों को पुलिस ने आनन फानन में धर दबोचा




  • इशानचक के पेट्रोल पंप पर हुआ बम विस्फोट

  • एसएसपी ने प्रेस कांफ्रेंस कर दी जानकारी

  • डीएसपी के नेतृत्व में टीम ने काम किया

  • दो अपराधियों का पूर्व रिकार्ड भी पाया गया

दीपक नौरंगी

भागलपुरः बम फेंकने के एक मामले में शामिल अपराधियों को पुलिस ने तुरंत ही पकड़

लेने में सफलता पायी है। एक पेट्रोल पंप पर बम फेंकने के अपराधियों में से दो के पूर्व

आपराधिक रिकार्ड भी हैं। इशाकचक इलाके में यह घटना कल घटी थी।

वीडियो में जान लीजिए पूरा घटनाक्रम

इस घटना की सूचना मिलने के तुरंत बाद एसएसपी आशीष भारती ने इसके लिए एक

जांच दल का गठन कर अपराधियों को पकड़ने के निर्देश दिये थे। इशाकचक के शांति

फ्यूएल पंप पर फेंके गये बम से कोई हताहत तो नहीं हुआ था लेकिन इससे अपराधियों की

हरकतों का पता जरूर चल गया था। सीनियर एसपी आशीष भारती ने सिटी डीएसपी के

नेतृत्व में एक टीम बनायी थी। इस टीम ने लगातार प्रयास करने के बाद इसकांड में

शामिल अपराधियों का न सिर्फ पता लगा लिया बल्कि उन्हें गिरफ्तार भी कर लिया। इस

घटना में शामिल अपराधियों ने बम विस्फोट में शामिल होना स्वीकार कर लिया है।

गिरफ्तार लोगों में से एक पहले इसी पेट्रोल पंप में काम भी किया करता था। इस वजह से

पुलिस गिरफ्तारी के बाद भी बम विस्फोट के असली कारणों की जांच कर रही है।

टीम गठित होने के बाद जांच अधिकारियों ने सबसे पहले वहां के सीसीटीवी फुटेज का

अध्ययन किया। इस टीवी फुटेज में अपराधियों को देख लेने के बाद चीता दल के सदस्यों

को इन अपराधियों की तलाश में लगाया गया था। सामूहिक प्रयास का ही नतीजा था कि

इस कांड में शामिल अंकित तिवारी, राजवीर शाह और बिट्टू कुमार गिरफ्तार कर लिये

गये। आज आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में सीनियर एसपी के समक्ष इन अपराधियों को हाजिर

भी किया गया।

बम फेंकने के अलावा भी अपराध नियंत्रण पर निर्देश

पुलिस रिकार्ड के मुताबिक बम फेंकने वाले इन तीन लोगों में से अंकित और राजवीर के

पूर्व आपराधिक इतिहास भी रहा है। इसी प्रेस कांफ्रेंस में एसएसपी ने बताया कि सभी

थाना प्रभारियों को इस बात की हिदायत भी दी गयी है कि वे अपने अपने क्षेत्र के उन

अपराधियों पर भी नजर रखें, जो हाल के दिनों में जेल से रिहा हुए हैं। ऐसा इसलिए किया

जा रहा है ताकि जेल से छूटने के बाद अगर कोई फिर से आपराधिक गतिविधियों में

शामिल पाया जाता है तो अपराध नियंत्रण के लिहाज से भी ऐसे अपराधी तत्वों के खिलाफ

त्वरित कार्रवाई की जा सके। थाना प्रभारियों को ऐसे अपराधियों के बारे में नियमित

जानकारी लेते रहने तथा उनकी गतिविधियों पर निगरानी रखने को कहा गया है ।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  • 0
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from भागलपुरMore posts in भागलपुर »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: