Press "Enter" to skip to content

भागलपुर में बमबाजी इतनी घटनाएं फिर निरोधक दस्ता जमालपुर में क्यों




  • पुलिस मुख्यालय को होना पड़ेगा गंभीर

  • सूचना पर आने में समय लगता है

  • कई लोगों की जान भी जा चुकी है

  • पुलिस के पास अब तक सुराग नहीं

दीपक नौरंगी

भागलपुर : भागलपुर में बम विस्फोट की लगातार घटनाएं हो रही हैं। इन बम




विस्फोट में कई लोगों की जान जा चुकी है जबकि कई लोगों ने अपने शरीर के अंग को

खोया है।नाथनगर इलाके में एक दिन बाद एक दिन लगातार बम विस्फोट की तीन

घटनाएं हुई। इन घटनाओं में एक बच्चा सहित दो लोगों की मौत हुई जबकि तीन

बच्चे घायल हो गए थे। तेरह दिसंबर को दरगाह के पास हुए बम विस्फोट की घटना ने

दहशत फैला दिया था। इसमें एक सात साल के बच्चे की मौत हो गई थी। बम

विस्फोट किस घटना के बाद पांच जिंदा बम बरामद किया गया था। उन बम को

निष्क्रिय करने के लिए बम निरोधक दस्ते की आवश्यकता पड़ी। भागलपुर के

अधिकारियों ने जमालपुर में पदस्थापित संबंधित पदाधिकारी को कॉल कर बम

निरोधक दस्ते को जल्दी भेजने को कहा। आश्चर्य है कि जमालपुर से भागलपुर आने

में बम निरोधक दस्ते को आठ घंटे का समय लग गया था। इतनी बड़ी लापरवाही के

लिए जवाब दे कौन अधिकारी होगा। भागलपुर जिले में बम विस्फोट की घटनाएं

आसपास के किसी भी जिले से कई गुना ज्यादा हो रही हैं। पिछले दो साल की बात की

जाए तो जिले में बम विस्फोट की छोटी और बड़ी लगभग 40 घटनाएं हो चुकी हैं।

इन घटनाओं में कई लोगों की जान जा चुकी है। जिले में बबरगंज, नाथनगर

मुजाहिदपुर, तातारपुर ,बरारी आदि थाना क्षेत्रों में बम बाजी की ज्यादा घटनाएं होती

हैं। हर बार बम विस्फोट की घटना के बाद बम निरोधक दस्ते को घटनास्थल तक




पहुंचने में घंटों समय लग जाता है।

भागलपुर में बमबाजी क्यों का सवाल अनुत्तरित ही है

ऐसे में जांच भी प्रभावित होती है। सवाल है कि क्या भागलपुर जैसे संवेदनशील जिले

में जहां बम बाजी की इतनी घटनाएं हो रही हैं क्या यहां पर बम निरोधक दस्ते की

पदस्थापना नहीं की जा सकती। क्यों नहीं इस जिले में बम निरोधक दस्ता रहे ताकि

बम विस्फोट की घटना होने के तुरंत बाद बम निरोधक दस्ता मौके पर पहुंचे और

उसकी सही जांच की जा सके। पुलिस मुख्यालय में जिम्मेदार वरीय पुलिस

अधिकारियों को ऐसे मामले में गंभीरता पूर्वक विचार करना चाहिए कि आखिर

भागलपुर में शहरी क्षेत्र में बारूद कहां से आ रहा है और कौन लोग बम बना रहे हैं और

लगातार हो रही बम विस्फोट की घटना में स्थानीय पुलिस की क्या भूमिका है

भागलपुर के वरीय पुलिस अधिकारी इस मामले में कितने गंभीर हैं या नहीं है। पूरे

पांच सालों के दौरान कितनी बम विस्फोट की घटना हुई है और कितने मामले में

सुपरविजन रिपोर्ट में कितने नामजद आरोपी सलाखों के बाहर हैं ऐसे बिंदुओं पर भी

मुख्यालय स्तर से समीक्षा करने की आवश्यकता है। कई ऐसे अहम बिंदु है जिसको

लेकर पुलिस मुख्यालय के सीनियर अधिकारियों को अपना ध्यान भागलपुर की ओर

देना चाहिए क्योंकि इन दिनों बम विस्फोट की घटनाओं में भागलपुर में बढ़ोतरी देखी

गई है और इसके पीछे क्या कारण है क्या कोई बड़ा अपराधी गैंग तो बम वाले मामले

में संलिप्त नहीं है।



More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from भागलपुरMore posts in भागलपुर »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.
%d bloggers like this: