fbpx Press "Enter" to skip to content

बोकारो इलाके से कोरोना से मौत का पहला मामला

प्रमोद पासवान

बोकारोः बोकारो इलाके में कोरोना से हुई मौत का पहला मामला सामने आया है। इस

इलाके में कोरोना पीड़ितों का पता तो पहले ही चल गया था। मरीजों का पता चलने के

तुरंत बाद जिला प्रशासन ने एहतियात बरतते हुए संभावित संक्रमण के सभी लोगों को

अलग कर दिया था। उनकी नियमित जांच भी चल रही है।

वीडियो में जान लीजिए पूरी कहानी

गोमिया की जिस महिला की मौत हुई है, उसे ईलाज के लिए बोकारो बीजीएच में भर्ती

कराया गया था। 75 साल की इस महिला को सांस लेने में तकलीफ थी। उसकी भी कोरोना

जांच की रिपोर्ट आने के दौरान ही उसकी मौत हो गयी है। कोरोना से उसकी मौत की पुष्टि

होने के बाद उसके घरवालों को भी आइसोलेशन में रखा गया है। वैसे कोरोना से हुई इस

एक मौत ने पूरे बीचीएस अस्पताल और बोकारो इलाके में हड़कंप मचा दिया है।

वहां कोरोना की पहली मरीज का पता चलते ही उपायुक्त ने सरकार द्वारा निर्देशित सभी

आवश्यक कदम उठाये जाने की जानकारी दी थी। उस वक्त भी बांग्लादेश से अपने पति

के साथ आयी महिला को बांग्लादेश से ही संक्रमण होने का अंदेशा था। बाद में उसके संपर्क

में आने वाले चार अन्य लोगों के भी कोरोना वायरस से संक्रमित होने की रिपोर्ट आयी है।

बोकारो इलाके में संक्रमण के अलावा हिंदपीढ़ी में भी बीमार

इसे मिलाकर राज्य में अचानक ही कोरोना संक्रमण के मामलों में बढ़ोत्तरी होने की सूचना की पुष्टि हुई है।

रांची में भी कोरोना संक्रमण के फैलने की वजह से हिंदपीढ़ी के इलाके में नाकाबंदी को 72 घंटे के लिए और बढ़ा दिया गया है।

इसके बीच सभी संभावित संक्रमण के इलाकों में रहने वालों की लगातार जांच हो रही है।

समझा जा रहा है कि मलेशिया की महिला से संक्रमण के फैलने के बाद उनके संपर्क में

आने वालों के जरिए भी दूसरों तक यह संक्रमण फैला है। जिसकी जांच जरूरी है ताकि

अन्य लोगों को इस वायरस के संक्रमण से बचाया जा सके।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat