fbpx Press "Enter" to skip to content

हैसियत और मुंह देखकर बेड दिलाने का खेल बंद होः बाबूलाल

रांचीः हैसियत और मुंह देखकर सिर्फ बड़े लोगों को अस्पतालों में बेड दिलाने का एक

गोरखधंधा पूरे देश में चल पड़ा है। एनसीआर के नोएडा से आयी यह खबर रोंगटे खड़े कर

देने वाली है। इसी तर्ज पर लोगों से लगातार यह शिकायत मिल रही है कि रांची में भी कुछ

बड़े नामचीन प्राईवेट अस्पतालों में रोगी की गंभीरता नहीं बल्कि मुंह और हैसियत देखकर

भर्ती करने का शर्मनाक खेल चल रहा है। इससे लोगों में व्यवस्था से आक्रोश है।यह बात

पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने कही।

वीडियो को ध्यान से देखिये कि चल क्या रहा है

उन्होंने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी से आग्रह है कि बिना विलम्ब वरीय डाक्टरों की टीम

बनाकर इसकी जाँच करायें ताकि आईसीयू, एचडीयू वेंटिलेटर जैसे जीवन रक्षक बेड क़ब्ज़ा

कर स्वास्थ्य लाभ कर रहे गैर ज़रूरी लोग उसे ख़ाली करें और ज़रूरतमंद लोग इन

सुविधाओं के अभाव में वे ईलाज न मरें।

हैसियत और मुंह देखकर बेड के खेल की समग्र जांच हो

नोएडा के एक वीडियो का हवाला देते हुए श्री मरांडी ने इस मामले में सरकार को गंभीर

दृष्टिकोण अपनाने को कहा है। उन्होंने कहा है कि रांची में भी ऐसा ही खेल चल रहा है जहां

हैसियत और मुंह देखकर लोगों को अस्पतालों और खास तौर पर निजी अस्पतालों मे बेड

उपलब्ध कराये जा रहे हैं। नोएडा की इस वीडियो में किस तरीके से हैसियत और मुंह

देखकर बेड दिलाया जा रहा है, उस बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी है। इसके लिए

अनैतिक हथकंडे कुछ इस तरीके से अपनाये जा रहे हैं कि आम तौर पर इस गड़बड़ी को

पकड़ना भी मुश्किल है। नियमित पैसे की लालच में आम गरीब को अस्पताल में कोविड

का मरीज बताकर भर्ती किया जा रहा है। उसकी फर्जी कोविड मरीज होने की रिपोर्ट भी

बनायी जा रही है। आधार कार्ड का उल्लेख होने की वजह से यह पता करना तुरंत ही संभव

नहीं होता कि जिस मरीज को बेड दिया गया है, वह दरअसल फर्जी रिपोर्ट के आधार पर

भर्ती है। उसके बाद जब कोई हैसियत और मुंह देखकर वजनदार मरीज आता है तो

अत्यधिक भुगतान के आधार पर उसे बेड दे दिया जाता है जबकि पहले से कोरोना मरीज

बनाकर बेड में रखे गये व्यक्ति की छुट्टी कर दी जाती है। श्री मरांडी ने इस वीडियो का

हवाला देते हुए यहां भी बेहतर तरीके से इस गोरखधंधे की जांच की मांग की है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from घोटालाMore posts in घोटाला »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बयानMore posts in बयान »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: