fbpx

किसानों के मुद्दे पर भाजपा ने खेतों में दिया धरना

किसानों के मुद्दे पर भाजपा ने खेतों में दिया धरना

रांचीः किसानों के मुद्दे और किसानों के साथ हो रहे अन्याय ,धान के बकाये के भुगतान को

लेकर प्रदेश भारतीय जनता पार्टी ने पूरे प्रदेश में खेतों में धरना दिया।कार्यक्रम प्रदेश के

सभी मंडलों के 1163 स्थानों पर सम्पन्न हुए जिसमे हजारों की संख्या में किसान और

पार्टी के कार्यकर्ता शामिल हुए। किसानों की समस्या को लेकर प्रदेश भाजपा आज राज्य

सरकार के खिलाफ आक्रामक हुई। पार्टी ने किसानों की कर्मस्थली खेतों में ही किसानों के

मुद्दे पर धरना दिया और सरकार से राज्य के किसानों के बकाये के भुगतान की मांग की।

रांची जिलान्तर्गत कांके प्रखंड के सुकुरहुटू में खेत पर धरना को संबोधित करते हुए प्रदेश

अध्यक्ष सह सांसद दीपक प्रकाश ने कहा कि हेमंत सरकार गरीब गुरबा और किसानों के

साथ अन्याय कर रही है। कोरोना महामारी से परेशान किसानों को उनके हक के भी पैसे

सरकार रोक रखी है। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष अन्नदाताओं ने रिकॉर्ड उत्पादन किया

किसानों के चेहरे पर खुशी थी किंतु हेमंत सरकार की लापरवाही और उदासीनता के कारण

आज किसान हताश बैठे हैं। उन्होंने कहा जिन किसानों को इस समय खेतों में होना था वे

अपने हक और अधिकार के लिए खेतों में धरना दे रहे हैं। हेमन्त सरकार ने किसानों से

क्रय धान की पूर्ण कीमत यथाशिघ्र देने की मांग की। उन्होंने कहा कि यह सरकार

बिचौलियों की सरकार है। बिचौलियों के हित में फैसले ले रही है। रिकॉर्ड अन्न उत्पादन के

बाद हेमन्त सोरेन ने एमएसपी के तहत धान खरीदने का वादा किया था। किंतु बिचौलियों

के हित में वित्त मंत्री ने मुख्यमंत्री के आदेश को दरकिनार कर धान भीगा कहते हुए धान

खरीदने से इंकार कर दिया। इस दौरान झामुमो और कांग्रेस के बिचौलियों ने औने पौने

दाम में धान की ख़रीदगी की।

किसानों के मुद्दे पर संवेदनहीन रही है हेमंत सरकार

उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव से पूर्व जेएमएम, कांग्रेस और राजद ने किसानों को बड़े

बड़े वायदे किया किन्तु एक भी पूरा नहीं किया। किसानों का 2लाख तक ऋण माफ करना,

किसानों को मुफ्त में बिजली देना प्रमुखता से शामिल, किसानों को स्वरोजगार के लिए

अनुदान, बुजुर्ग किसानों को विशेष पेंसन के वादे को भुला दिया। भाजपा सरकार के

कार्यकाल में किसानों के हित में शुरू किए गए योजनाओं को भी बंद कर दिया। उन्होंने

कहा कि प्रधानमंत्री यशस्वी नरेंद्र मोदी जी ने लगातार किसानों के हित में फैसले लेकर

किसानों को आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास किया है। लगातार फसलों पर एमएसपी बढ़ाया

जा रहा है। डीएपी पर भारी सब्सिडी दी जा रही है। पीएम किसान सम्मान निधि योजना के

तहत आठवीं किस्त के रूप में झारखंड के लगभग 14 लाख किसानों को 286 करोड़ से

ज्यादा सीधे खाते में फंड ट्रांसफर किया गया। इस योजना के तहत किसानों को सालाना

छः हजार दिया जाता है। धान पर इस वर्ष 72 रुपये प्रति क्विंटल जबकि अरहर एवम उडद

पर 300 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की गई। श्री प्रकाश ने कोविड वैक्सीन को लगवाने

केलिये भी जनता से आह्वान किया। कहा स्वयं भी टीका लगवाएं और लोगों के बीच से

भ्रम को भी दूर करें। श्री प्रकाश ने आज खेतों में हल चलाकर किसानों का उत्साहवर्धन

किया।कहा कि हल और बैल हमारी संस्कृति और सभ्यता से जुड़े हैं। भारत की पहचान है।

इस धरना में विधायक समरी लाल, ग्रामीण जिलाध्यक्ष सुरेंद्र महतो, जीप अनिल टाईगर,

मनीता मेहता, मंडल अध्यक्ष रामलखन मेहता, किसान मोर्चा के अध्यक्ष पवन महतो,

प्रताप कुशवाहा, जोगेंद्र महतो, हरिनाथ साहू, प्रभात भूषण, शत्रुघ्न साहू, दीपक महतो व

अन्य मौजूद थे।

पूर्व मुख्यमंत्री मरांडी ने गिरिडीह में धरना में भाग लिया

गिरिडीह जिलान्तर्गत चन्दौरी मंडल के लौटाई गांव में धरना को संबोधित करते हुए नेता

विधायकदल एवम पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने राज्य सरकार पर जमकर हमला

बोला। उन्होंने कहा कि जो सरकार राज्य के किसानों के बकाये का भुगतान नही कर

सकती उसे सत्ता में बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नही है। श्री मरांडी ने कहा कि कहां

तो 2लाख तक के ऋण माफी,मुफ्त बिजली सहित और कई घोषणाएं की गई थी परंतु वादे

तो पूरे हुए नही बल्कि किसानों के खून पसीने की कमाई भी सरकार छीन रही है। धान की

कीमत बिचौलियों ने छीन ली और बचाखुचा सरकार ने। अब हताश निराश किसान कहाँ

जाएं। कहा कि भाजपा को राज्य के किसानों की चिंता है।पार्टी किसानों की समस्या को

लेकर सदन से सड़क तक संघर्ष करेगी। रातू मंडल के लहना गांव में धरना प्रदर्शन को

संबोधित करते हुए प्रदेश संगठन महामंत्री धर्मपाल सिंह ने कहा कि यदि राज्य के

अन्नदाता निराश और हताश होंगे तो राज्य कभी भी खुशहाल नही हो सकता। आज

किसान अपने बकाये के भुगतान केलिये धरने पर बैठने को मजबूर हुए हैं। सरकार अगर

किसानों की मांगशीघ्र पूरी नही करती तो राज्य के किसान और बड़े आंदोलन केलिये

बाध्य होंगे। धरने में यहां विधायक नवीन जायसवाल भी शामिल हुए। पार्टी के प्रदेश

महामंत्री आदित्य साहू ने ओरमांझी मंडल के उकरीद नकुवा टोली में धरना का नेतृत्व

किया जबकि प्रदेश महामंत्री डॉ प्रदीप वर्मा नामकुम के कोचबोंग गांव में शामिल हुए।

आज पूरे प्रदेश में सुबह 8बजे से 11बजे दिन तक खेतों में धरना कार्यक्रम चला। प्रदेश भर

में पार्टी केप्रदेश,एवम ज़िला,मंडल के पदाधिकारी,सांसद, विधायक,जन प्रतिनिधि सहित

हजारों कार्यकर्ता शामिल हुए

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Rkhabar

Rkhabar

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: