fbpx Press "Enter" to skip to content

भाजपा सांसद संजय सेठ ने फाइल लटकाने पर नाराजगी जतायी

रांचीः भाजपा सांसद संजय सेठ ने कहा है कि रातू रोड फ्लाईओवर, कांटा टोली

फ्लाईओवर व बड़ा तालाब जीर्णोद्धार जैसी महत्वाकांक्षी योजनाओं पर यहां के

पदाधिकारियों की फाइल लटकाने वाली प्रवृत्ति के कारण ग्रहण लग गया। श्री सेठ

शनिवार को राष्ट्रीय खबर के साथ खास बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जनहित के

मुद्दों पर रोड़ा अटकाने का अधिकार किसी को नहीं है। देश के अन्य शहरों में छह-छह माह

में फ्लाईओवर का निर्माण हो रहा है। जबकि, झारखंड में पिछले चार से फ्लाईओवर का

निर्माण लटका हुआ है। उन्होंने कहा कि रातू रोड व कांटा टोली फ्लाई ओवर नहीं बनने से

जनता को काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। बड़ा तालाब जीर्णोद्धार मामले में भी

पदाधिकारियों के नकारात्मक रवैये के कारण खटाई में पड़ गया है। उन्होंने कहा कि

झारखंड के पदाधिकारियों को नकारात्मक सोच हटा कर विकास योजनाओं को तेजी से

धरातल पर उतारना होगा। उन्होंने कहा कि सरकार किसी की भी पदाधिकारियों को

जनता के प्रति संवदेनशील होकर कार्य करना चाहिए।

भाजपा सांसद ने कहा बाबूलाल के आने से नयी ऊर्जा

भाजपा सांसद श्री सेठ ने कहा कि पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी के भाजपा में शामिल होने से

पार्टी में नयी ऊर्जा का संचार हुआ है। इससे पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश चरम पर है। इसका

सकारात्मक असर आने वाले दिनों में देखने को मिलेगा। दरअसल, श्री मरांडी को भाजपा

कार्यकर्ता कभी भी अपने से अलग माने हीं नहीं। मृदुभाषी व कार्यकर्ताओं के कंधे पर हाथ

रखने की श्री मरांडी की आदत के कारण सभी उनके दीवाने हैं। अब, श्री मरांडी की

मौजूदगी में चुनाव की नकारात्मक परिणामों को भूल कर कार्यकर्ता पूरे दम के साथ

सरकार के जनविरोधी नीतियों का विरोध करेंगे। उन्होंने हेमंत सरकार पर प्रतिक्रिया दी है

कि वह जनता से किये वादे पूरी करने की दिशा में तेजी से कार्य करे। जनता को केंद्र में रख

कर विकास योजनाओं को धरातल पर उतारने का प्रयास किया जाना चाहिए। सीएए के

विरोध में हो रहे आंदोलन पर सांसद ने कहा कि यह देशतोड़क तत्वों की साजिश है।

उन्होंने कहा कि संसद के दोनों सदनों से सीएए को पारित किये जाने के बाद विरोध किया

जाना उचित नहीं है। सीएए देश के किसी भी नागरिक को हटाने का अधिकार नहीं देता है।

इस कानून से पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान व श्रीलंका से धार्मिक प्रताड़ना

झेलने वाले लोगों को नागरिकता प्रदान किया जायेगा। उन्होंने कहा कि सीएए का विरोध

करने वालों को देश की एकता व अखंडता से खिलवाड़ करने की छूट नहीं दी जा सकती है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!