fbpx Press "Enter" to skip to content

भाजपा विधायक कोल ने मध्यप्रदेश विधानसभा से इस्तीफा वापस लिया

भोपालः भाजपा विधायक कोल ने मध्यप्रदेश विधानसभा से दिया गया अपना इस्तीफा

वापस ले लिया है। मध्यप्रदेश विधानसभा सचिवालय ने आज कहा कि भारतीय

जनता पार्टी (भाजपा) विधायक शरद कोलका विधायक पद से त्यागपत्र स्वीकार नहीं

किया गया है। श्री कोलब्योहारी (अजजा) से विधायक हैं। सियासी उठापटक के बीच

आज सुबह खबर आयी कि उनका त्यागपत्र स्वीकार कर लिया गया है। लेकिन बाद में

बताया गया कि श्री कोलका त्यागपत्र लगभग दस दिन पहले आया था। इस बीच श्री

कोल ने 16 मार्च को एक पत्र विधानसभा अध्यक्ष को संबोधित करते हुए लिखा। इसमें

लिखा कि उन्होंने विधानसभा से त्यागपत्र नहीं दिया है। श्री कोल ने कहा कि पूर्व में

दबाव डालकर एवं उनकी इच्छा के विपरीत एक इस्तीफे पर हस्ताक्षर करा लिए गए थे

और वो आपको (अध्यक्ष को) दे दिया गया था। इस इस्तीफे पर पर यह पत्र लिखने की

दिनांक 16 मार्च तक कोई निर्णय नहीं हुआ है, इसलिए दबाव डालकर लिखवाए गए

इस्तीफे को स्वीकार नहीं किया जाए। इस आधार पर विधानसभा अध्यक्ष एन पी

प्रजापति ने श्री कोलका त्यागपत्र स्वीकार नहीं किया है। दरअसल श्री कोल राजनैतिक

घटनाक्रम के बीच कथित तौर पर कांग्रेस के संपर्क में बताए जा रहे थे।

भाजपा विधायक कोल कांग्रेस के संपर्क में थे

श्री कोल और एक अन्य भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी एक अवसर पर विधानसभा

में भाजपा में होने के बावजूद कांग्रेस के पक्ष में मतदान कर चुके थे। श्री त्रिपाठी तो

पिछले पखवाड़े के दौरान कम से कम आधा दर्जन बार मुख्यमंत्री निवास पहुंचे और

उनके प्रति समर्थन भी जताया था। लेकिन आज श्री त्रिपाठी एक बार फिर पाला बदलते

हुए दिखे और वे पूर्व गृह मंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता भूपेंद्र सिंह के निवास पर पहुंचे।

उन्होंने भाजपा के प्रति निष्ठा जाहिर की और नेताओं के अलावा मीडिया के समक्ष कहा

कि वे भाजपा में थे, हैं और रहेंगे। श्री त्रिपाठी पहले समाजवादी पार्टी में भी रह चुके हैं

और वर्तमान में वे मैहर से विधायक हैं और विधानसभा चुनाव में भाजपा के टिकट पर

चुने गए थे


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from देशMore posts in देश »

Be First to Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by