Press "Enter" to skip to content

बिहार से सामाजिक न्याय की धारा को नष्ट करना चाहती है भाजपाः कन्हैया कुमार

पटना : बिहार से सामाजिक न्याय की धारा को नष्ट करने की दिशा में भाजपा ने गहरी

साजिश की है। इसके लिए उसने दलित राजनीति को भी समाप्त प्राय कर दिया है। उत्तर

प्रदेश के बाद बिहार उसका पहला निशाना है। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के नेता कन्हैया

कुमार ने आज ये बातें पत्रकार वार्ता में कही। उसने खुलासा कर दिया कि भाजपा ने एक ही

पत्थर से दो शिकार किए हैं। आने वाले दिनों में वह सामाजिक न्याय के अन्य ताकतों का

शिकार करेगी । इन ताकतों को आपस में लड़ आएगी और बेहद कमजोर कर देगी। पहले

जदयू को नष्ट करेगी और लालू प्रसाद की पार्टी भी पर कई आरोप लगाकर उसको भी बुरी

तरह बदनाम कर देगी। जनता की नजरों में गिरा देगी। फिर बिहार में अकेले सत्ता पर

काबिज हो जाएगी। उन्होंने लोजपा में हुई इस टूट के पीछे के मास्टरमाइंड का भी खुलासा

कर दिया है। उन्होंने कहा कि, सत्ता में जब भी कोई बड़ा पद खाली स्थान होता है तो

उसपर अगली दावेदारी को लेकर उठापटक हर दल में हुआ करती है। मुझे लगता है कि

पार्टी कार्यालयों में जो भी नूरा-कुश्ती हो जाए, लेकिन अंतिम रूप से राजनीति किसके पक्ष

में जाएगी, यह जनता तय करती है। जनता का आदेश ही माना जाता है। लोजपा के

मामले में भी यही होगा। रामविलास पासवान के वारिस कौन होंगे जनता तय करेगी। एक

पत्थर से दो शिकार करना सभी ने सुना ही होगा और भाजपा फिलहाल वही काम कर रही

है।

बिहार में सामाजिक न्याय को तोड़कर एक तीर से दो शिकार

उन्होंने इस टूट का ठीकरा भाजपा पर फोड़ते हुए कहा कि, इस पूरे सियासी खेल का असली

खिलाड़ी भाजपा ही है। भाजपा की कोशिश है कि बिहार के भीतर सामाजिक न्याय का जो

एक स्वर था, उसको धीरे-धीरे आपस में लड़ा कर अपने आप खत्म कर दिया जाए। भाजपा

अपने तरीके से राजनीतिक लाभ लेती है। अब लालू यादव पर भी आरोप लगेंगे और सब के

पीछे केवल भाजपा का ही हाथ है। भाजपा अंदर ही अंदर बिहार की पूरी सत्ता को अपने

कब्जे में कर लेगी। उसने कहा कि गरीबों को जाति के आधार पर बांट का भाजपा इन को

आपस में ही लड़ाएगी और देश में बड़े कारपोरेट घरानों का शासन स्थापित कर देगी। सारा

कुछ इसी एजेंडे के तहत किया जा रहा है।

Spread the love
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from नेताMore posts in नेता »
More from बिहारMore posts in बिहार »

One Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
Exit mobile version