fbpx Press "Enter" to skip to content

मानसिक रोगी बताकर दीवार कूदने में मौत बताया जेल प्रशासन ने




  • रांची जेल में कैदी की मौत पर कई सवाल खड़े
  • सर पर चोट और खून बहने से मौत
  • किसी ने उसे चढ़ते और गिरते नहीं देखा
संवाददाता

रांची: मानसिक रोगी बताकर एक कैदी की मौत पर बिरसा मुंडा जेल प्रशासन कहीं पर्दा तो नहीं डाल रहा है।

जेल प्रशासन की तरफ से पहले यह सूचना दी गयी थी कि वहां एक कैदी की मौत हो गयी है।

इस कैदी के बारे में जो सूचनाएं जेल प्रशासन के माध्यम से बाहर आयी, उसके मुताबिक मरने वाला मानसिक रोगी था और दीवार कूदकर भागने की कोशिश में मारा गया।

लेकिन शव और अन्य परिस्थितिजन्य साक्ष्य पुलिस के इस दावे पर संदेह खड़े कर रहे हैं।

इसी वजह से यह संदेह भी किया जा रहा है कि कहीं किसी अन्य वजह से हुई मौत को जेल प्रशासन मानसिक रोगी की भागने में हुई मौत करार तो नहीं दे रहा है।

जेल प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार कैदी सुनील कुमार सिंह जेल परिसर के अंदर स्थित एक पेड़ पर चढ़कर दीवार फांद कर दूसरी तरफ कूद गया था।

जेल की बाउंड्री वाल काफी ऊंची है।

इतनी ऊंचाई से नीचे गिरने की वजह से उसकी मौत हो गयी थी।

घटना सुबह 6 बजे की बताई जा रही है। शव को पोस्टर्माटम रिम्स में किया गया।

कैदी के मौत का कारण के बारे में जो सूत्रों का मानना है उसके मुताबिक उसकी मौत

सर में गहरी चोट और अत्यधिक रक्त बहने के कारण हुई है।

मानसिक रोगी वार्ड में था या अस्पताल में इस पर असली सवाल

कैदी का नाम सुनील सिंह बताया जा रहा है।

जेल की तरफ से जो थाने को जानकारी दी गई है, उसमें यह जिक्र है कि सुनील सिंह,

पिता रामपाल सिंह जिसकी उम्र 27 साल है। वह बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार की वाच

टॉवर संख्या 11 और 12 के बीच स्थित पीपल के पेड़ पर चढ़कर बाउंड्री वाल को फांदने की

कोशिश कर रहा था। इसी बीच वह जमीन पर गिर पड़ा।

जमीन पर गिरने की वजह से उसके सर में गहरी चोट चोट लगी और मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

वहीं सूत्र बता रहे हैं कि कैदी जेल के अस्पताल के जनरल वार्ड में इलाजरत था।

सुबह वह कड़ी सुरक्षा के बाद भी जेल अस्पताल के पीछे स्थित पेड़ पर आसानी से कैसे चढ़ गया

और दीवार फांद कर दूसरी तरफ कूद गया, यह काफी बड़ा सवाल है।

जेल प्रशासन कीतरफ से यह नहीं बताया गया है कि उसे ऐसा करते किसने देखा था।

वहीं जेल प्रबंधन ने इस बात को पूरी तरह से नकार दिया है कि कैदी जेल के दीवार फांद कर

दूसरी तरफ कूदने में सफल हुआ था।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from हादसाMore posts in हादसा »

4 Comments

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: