fbpx Press "Enter" to skip to content

लालू का संदेशा मांझी तक पहुंचा तेज प्रताप के मार्फत

  • मुलाकात के बाद राजद ने भाजपा को दी चुनौती

  • बचा सकते हो तो बचा के दिखाओ सरकार

पटना : लालू का संदेशा लेकर ही क्या तेज प्रताप आज पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी से

मिलने आये थे, यह सवाल पटना के राजनीतिक गलियारों में तैरने लगा है। वैसे तो दोनों

ने इसे परिवारिक मुलाकात बताया था । लेकिन शाम होते-होते तक बाजी पलट गई और

राजद के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने यह साफ कर दिया कि तेज प्रताप लालू प्रसाद का

संदेशा लेकर मांझी के पास गए थे और मांझी ने उसमें अपनी सहमति दे दी है। अगर यह

सहमति कायम रहती है तो अब सरकार के लिए संकट की घड़ी वास्तव में आ गई है।

राजनीति में कभी भी कोई उलटफेर हो सकता है यह बात पुनः साबित हो गई है। ताजा

मामला राजद विधायक तेजप्रताप यादव व पूर्व सीएम तथा हम पार्टी प्रमुख जीतनराम

मांझी के मुलाकात से जुड़ा हुआ है। दरअसल, इस मुलाकात के बाद राजद ने एनडीए को

अपनी सरकार बचाने की खुली चुनौती दे डाली है। राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने आज

एक बयान जारी करते हुए कहा कि, समझने वाले समझ गये, जो न समझे वह अनाड़ी है।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव कई बार यह कह चुके हैं कि जीतन राम मांझी हमारे

अभिभावक हैं। दरअसल सूबे के सियासी गलियारे में इस मुलाकात के बाद बवाल मचा

हुआ है। राजद प्रवक्ता ने तो यहां तक कह दिया कि जीतनराम मांझी भले ही सशरीर

एनडीए में हैं लेकिन उनका दिल लालू प्रसाद की विचारधारा के साथ हैं।

लालू का संदेशा मिलने का संकेत राजद के तेवर से

लालू प्रसाद के विचारधारा की लड़ाई, जीतनराम मांझी ने साथ रहकर लड़ी है। उनका

एनडीए में दम घुट रहा है। उन्होंने चुनौती देते हुए कहा कि एनडीए अगर सरकार को बचा

सकता है तो बचा कर दिखाये। हालांकि अब तक भाजपा और जदयू ने श्री तिवारी के इस

बयान का कोई जवाब नहीं दिया है लेकिन माना जा रहा है कि बयान में काफी सच्चाई है।

मांझी को लालू का संदेश देने ही तेजप्रताप वहां गए थे । मांझी के स्वीकारोक्ति को उन्होंने

वापस लालू प्रसाद को पहुंचा भी दिया है, जिसके बाद से दोनों नेताओं के दिल गदगद है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बिहारMore posts in बिहार »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

One Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: