fbpx Press "Enter" to skip to content

बिहार सरकार का सुशांत सिंह हत्याकांड की जांच में आक्रामक रुख

  • रिया चक्रवर्ती की याचिका पर बिहार का पक्ष रखेंगे मुकुल रोहतगी

  • बिहार की जांच से फिल्म इंडस्ट्री में हड़कंप

  • मामले के मुंबई ले जाने का विरोध की तैयारी

  • करोड़ों रुपये ऐंठने का आरोप ही सबसे प्रमुख

नईदिल्लीः बिहार सरकार का सुशांत सिंह राजपूत हत्या कांड में आक्रामक रुख जारी है।

बॉलीवुड के नवोदित सुपरस्टार सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में पटना में अभिनेत्री

रिया चक्रवर्ती के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज होने के बाद आए भूचाल के बीच उच्चतम

न्यायालय में मामले को मुंबई ट्रांसफर किये जाने को लेकर दायर याचिका पर देश के पूर्व

एटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी बिहार सरकार का पक्ष रखेंगे। जनता दल यूनाइटेड (जदयू)

के प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने शुक्रवार को पटना में कहा कि रिया चक्रवर्ती की ओर से

उच्चतम न्यायालय में पटना में दर्ज मुकदमे को मुंबई ट्रांसफर किये जाने की मांग को

लेकर दायर की गई याचिका पर अपना पक्ष रखने के लिए बिहार सरकार ने सर्वोच्च

न्यायालय में गुरुवार को कैविएट दाखिल कर दिया है। उन्होंने बताया कि देश के पूर्व

एटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी न्यायालय में उपस्थित होकर राज्य सरकार का पक्ष रखेंगे।

श्री प्रसाद ने कहा कि आज पूरा देश की करोड़ों जनता चाहती है कि सुशांत सिंह राजपूत के

परिजनों को न्याय मिले। ऐसे में महाराष्ट्र की मुंबई पुलिस की जो भूमिका है वह सवालों

के घेरे में है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर पटना के राजीव नगर

थाने में रिया चक्रवर्ती समेत छह लोगों के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी के अनुसंधान के लिए

बिहार पुलिस के अधिकारियों का एक दल मुंबई में है। जदयू प्रवक्ता ने कहा कि छोटे

शहरों से निकलकर मुंबई की मायानगरी में अपनी लगन और मेहनत से जगह बनाने वाले

अभिनेताओं को कितना अपमान और तिरस्कार झेलना पड़ता है और वहां किस तरह के

खेल होते हैं इसका जीता-जागता उदाहरण सुशांत सिंह राजपूत की मौत है।

बिहार सरकार का तेवर ही मामले पर चौकन्ना करने वाला

उन्होंने कहा कि सुशांत की मौत ने निश्चति तौर पर मुंबई के फिल्म इंडस्ट्री को लेकर कई

ऐसे यक्ष प्रश्न खड़े किये हैं, जिनका जवाब देश को अवश्य चाहिए। वहीं, दूसरी ओर सुशांत

सिंह राजपूत की मौत को लेकर जारी तूफान के बीच गुरुवार को उच्चतम न्यायालय में दो

कैविएट दाखिल किये गये। वहीं मृतक की महिला मित्र और मॉडल रिया चक्रवर्ती की

याचिका से यह बात खुलकर सामने आयी कि सुशांत और रिया आत्महत्या से एक सप्ताह

पहले तक लिव-इन रिलेशन में थे। रिया ने याचिका में स्वीकार किया है कि वह सुशांत के

साथ आठ जून तक लिव-इन में रही। साथ ही उसने कहा है कि पटना में उसके खिलाफ

दायर प्राथमिकी में लगाये गये आरोप झूठे हैं। रिया चक्रवर्ती ने कहा है कि सुशांत सिंह

राजपूत की मौत के मामले की जांच मुंबई पुलिस कर रही है, इसके बावजूद उसके खिलाफ

मृत अभिनेता के परिजनों की ओर से बिहार में एक मुकदमा दर्ज करा दिया गया है,

जिसमें उन पर सुशांत से करोड़ों रुपये ऐंठने एवं आत्महत्या के लिए मजबूर करने का

आरोप लगाया गया है।

अभिनेत्री ने कहा है कि शीर्ष अदालत ने अपने कुछ पुराने फैसलों के जरिये यह व्यवस्था

दी हुई है कि एक ही मामले में कई राज्यों में दर्ज प्राथमिकी को सबसे पहले जांच शुरू करने

वाले राज्य में स्थानांतरित किया जाना चाहिए। एक ही मामले की जांच दो अलग-अलग

राज्यों की पुलिस द्वारा नहीं की जा सकती, लिहाजा उनके खिलाफ दर्ज मामले को मुंबई

भेजने का निर्देश दिया जाए।

रिया चक्रवर्ती ने सुप्रीम कोर्ट से मामला ले जाने की गुहार लगायी

इससे पूर्व सुशांत सिंह राजपूत के पिता कृष्ण कुमार सिंह के आवेदन के आधार पर राजीव

नगर थाने में अभिनेत्री एवं सुशांत की गर्लफ्रैंड रिया चक्रवर्ती के खिलाफ सुशांत को प्रेम में

फंसाकर उसके पैसे ऐंठने और आत्महत्या के लिए उकासने के आरोपों के तहत कांड

संख्या 241/20 दर्ज की गई है। मामला भारतीय दंड विधान की धारा 341, 342, 380, 406,

420, 306, 506 और 120 (बी) के तहत दर्ज किया गया है। दर्ज प्राथमिकी में रिया चक्रवर्ती

के अलावा इंद्रजीत चक्रवर्ती, संध्या चक्रवर्ती, शोविक चक्रवर्ती, सैमुएल मिरंडा और श्रुति

मोदी को नामजद अभियुक्त बनाया गया है। गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत ने इस

वर्ष 14 जून को मुंबई के अपने फ्लैट में आत्महत्या कर ली थी। उनकी मौत के बाद पूरे देश

में सुशांत को बॉलीवुड पर हावी ‘नेपोटिज्म’ का शिकार माना गया और इस मामले की

हत्या के बिंदु से जांच किये जाने की मांग जोर पकड़ने लगी। इस कड़ी में सबसे अधिक

हिम्मत बॉलीवुड की ‘मणिकर्णिका’ कंगना रनौत ने दिखाई। वह शुरू से ही इस घटना को

आत्महत्या नहीं मान रही हैं। सोशल मीडिया पर कई बार ट्रोल होने के बावजूद भी वह

अपने विचारों पर आज भी अडिग हैं। इसके अलावा अभिनेता शेखर सुमन भी इस मुद्दे पर

काफी मुखर हैं।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अजब गजबMore posts in अजब गजब »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from कला एवं मनोरंजनMore posts in कला एवं मनोरंजन »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from फ़िल्मMore posts in फ़िल्म »
More from बयानMore posts in बयान »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!