Press "Enter" to skip to content

बिहार सरकार ने आईएएस अरुण कुमार सिंह को मुख्य सचिव बनाया

  • बिहार राज्य सरकार ने जारी की अधिसूचना

राष्ट्रीय खबर

पटना : बिहार सरकार ने आज बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया है। विकास आयुक्त अरुण

सिंह नये मुख्य सचिव और गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव विकास आयुक्त आमिर

सुबहानी बनाये गये हैं। अरुण कुमार सिंह 1985 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा के

अधिकारी हैं। मालूम हो कि वर्तमान मुख्य सचिव दीपक प्रसाद सेवानिवृत्त होने के एक

साल से आज तक सेवा विस्तार पर रहे। दीपक कुमार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का

सलाहकार बनाया जा सकता है। दीपक कुमार 1984 बैच के बिहार कैडर के आईएएस

अधिकारी हैं। पहले वह 29 फरवरी 2020 को ही सेवानिवृत्त होने वाले थे। केंद्र की इजाजत

के बाद राज्य सरकार ने छह महीने के लिए उन्हें सेवा विस्तार दिया था। बिहार चुनाव और

कोरोना संक्रमण को देखते हुए उन्हें दुबारा सेवा विस्तार मिला था। आमिर सुबहानी 1987

बैच के आइएएस अधिकारी हैं। बिहार के नये विकास आयुक्त आमिर सुबहानी सीवान

जिले के रहने वाले हैं। सांख्यिकी से पोस्ट ग्रेजुएट किए आमिर सुबहानी 1987 बैच के

अधिकारी हैं। वह 2024 में 30 अप्रैल को अवकाश ग्रहण करेंगे। आमिर सुबहानी भी लंबे

समय से गृह विभाग में बने रहे। भाजपा उन्हे गृह विभाग से हटाने की मांग करती रही।

प्रशासनिक फेरबदल में चैतन्य प्रसाद गृह विभाग के नये प्रधान सचिव बनाये गये हैं।

वित्त,जल संसाधन सहित कई अन्य विभाग के भी सचिव बदले हैं। नई नियुक्तियों को

लेकर सामान्य प्रशासन ने अधिसूचना जारी कर दी है। 5 अन्य आईएएस अफसरों का

तबादला किया गया है, एक को अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। इसके पूर्व 28 दिसंबर को

मुख्य सचिव दीपक कुमार को छह माह के लिए सेवा विस्तार मिला था।

बिहार सरकार ने दीपक कुमार की सेवा जारी रखी है

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ निकटता का लाभ दीपक कुमार को निरंतर मिल रहा है।

स्वयं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उनके कार्यकलाप से इतना प्रभावित है कि मुख्य सचिव पद से रिटायर हो रहे दीपक कुमार को नहीं छोड़ेंगे।

सूत्रों के मुताबिक केंद्र सरकार ने जब

तीसरी बार सेवा विस्तार नहीं दिया तो उनको आज उन्हें सेवानिवृत्त होना पड़ा। केंद्र

सरकार ने एक्सटेंशन नहीं दिया तो क्या हुआ मुख्यमंत्री नीतीश ने अब उन्हें अपना प्रधान

सचिव बना लिया है। दीपक कुमार 1 मार्च यानी कल से मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव के पद

पर विराजमान होंगे। हालांकि मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव के पद पर चंचल कुमार पूर्ववत

बने रहेंगे ।बता दें वर्ष 2002 में लालू-राबड़ी राज में इसकी शुरुआत हुई थी। तत्कालीन

मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने मुख्यसचिव पद से रिटायर होने वाले मुकुंद प्रसाद को

अपने साथ रखने के लिए प्रधान सचिव का पद सृजित किया था। लालू-राबड़ी सरकार के

रास्ते चलते हुए सीएम नीतीश ने भी उसी पद पर 19 साल बाद दीपक कुमार को फिर से

मुख्यमंत्री का प्रधान सचिव बनाया है। वैसे चंचल कुमार मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव (कैडर

पोस्ट) पर बने रहेंगे। माना जाता है कि चारा घोटाला में लालू प्रसाद के जेल जाने के बाद

मुकुंद प्रसाद ही राबड़ी देवी को प्रशासनिक कार्यों की के संचालन में प्रमुख रूप से सहायता

देते थे। वे स्वयं लालू प्रसाद के भी खासम खास और काफी विश्वासपात्र अफसर थे।

Spread the love
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बिहारMore posts in बिहार »
More from राज काजMore posts in राज काज »

Be First to Comment

... ... ...
Exit mobile version