fbpx Press "Enter" to skip to content

बिहार सरकार ने हाईकोर्ट के आदेश का पालन कर किया 13 अफसरों का तबादला




  • बिहार सरकार ने हाईकोर्ट के आदेश का पालन कर दिया 13 अफसरों का तबादला

  • मुंगेर गोली कांड का असर बहुत दूर तक फैला

  • एसपी ढिल्लो को किसी पड़ोसी जिला में होगा

  • कई अफसरों को इधर से उधर करना होगा

दीपक नौरंगी

भागलपुरः बिहार सरकार ने हाईकोर्ट के आदेश का पालन करते हुए मुंगेर गोली कांड की

जांच से जुड़े सभी 13 पुलिसवालों का तबादला कर दिया है। अदालत का निर्देश था कि इस

मामले की जांच से जुड़े सभी अफसरों को उनके वर्तमान पदों से हटा दिया जाए। साथ ही

अदालत ने यह हिदायत भी दी है कि अब इस पूरे मामले की जांच हाईकोर्ट की निगरानी में

ही होगी।

वीडियो में समझ लीजिए पूरी रिपोर्ट को

हाईकोर्ट की निगरानी में जांच का निर्देश ही बिहार सरकार के गले में हड्डी की तरह फंस

रहा है। यह सर्वविदित है कि सरकारी स्तर पर इस मामले की जांच में टालमटोल क्यों

होती आयी है। अब सरकार यह भी जान रही है कि मुंगेर के वर्तमान एसपी मानवजीत

सिंह ढिल्लो पूरी तरह निर्दोष होने के बाद भी हाईकोर्ट के आदेश की चपेट में आ गये  हैं।

लेकिन हाईकोर्ट के आदेश का पालन बिहार सरकार ने करना ही है। लिहाजा जानकार यह

मानते हैं कि इसके लिए बीच का रास्ता निकाला जाएगा। श्री ढिल्लो को मुंगेर के पास के

किसी जिला में एसपी बनाया जाएगा। वैसे उन्हें किसी अन्य जिला में एसपी बनाये जाने

की वजह से भी कई अन्य आईपीएस अधिकारियों का तबादला करना बिहार सरकार की

मजबूरी होगी। अपने आदेश के पालन के लिए हाईकोर्ट ने जो समय सीमा निर्धारित की

थी, वह पूरी हो चुकी है। ऐसे में समझा जा रहा है कि बिहार सरकार ने नीचे के अफसरों को

बदलने का आदेश जारी कर आदेश के एक हिस्से का पालन कर लिया है। अब उस आदेश

के एक अन्य और सबसे महत्वपूर्ण हिस्से में एसपी को हटाया जाना है। उम्मीद है कि यह

काम भी आज रात अथवा कल सुबह तक शायद पूरा कर लिया जाएगा। इसके लिए सबसे

पहले मुंगेर के लिए किसी नये अफसर को एसपी बनाने की घोषणा भी होगी।

बिहार सरकार ने हाई कोर्ट के तेवर को सही भांप लिया है

इस बीच यह याद दिला दें कि बिहार सरकार ने पुलिस में कई अन्य रैंक के अफसरों का

तबादला भी काफी समय से टाल रखा है। मिली जानकारी के मुताबिक इस बार हो सकता

है कि इसके साथ ही एडीजी रैंक के अफसरों का भी तबादला हो। चर्चा है कि इस संभावित

चर्चा में आईजी और डीआईजी रैंक के अफसरों के भी नाम हैं। वैसे एक चर्चा यह भी है कि

फिलहाल हाईकोर्ट के आदेश के अनुपालन को प्राथमिकता देते हुए सिर्फ मुंगेर एसपी को

ही पटना मुख्यालय बुलाया जा सकता है। लेकिन अंदरखाने में जो कुछ भी चल रहा है,

उसका परिणाम शीघ्र ही सामने आने की पूरी उम्मीद है।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अदालतMore posts in अदालत »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बिहारMore posts in बिहार »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

One Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: