fbpx Press "Enter" to skip to content

इलेक्ट्रीक बस से सीएम पहुंचे विधानसभा

  • बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की एक और अच्छी और नई पहल

  •  विधानसभा तक का सफर भी तय किया

  •  पूरे राज्य में 70 बसों का संचालन होगा

  •  महंगे सफर से मुक्ति और प्रदूषण भी कम

राष्ट्रीय खबर

पटना: इलेक्ट्रीक बस की सवारी कर बिहार के मुख्यमंत्री ने पूरे राज्य की जनता को साफ

और स्पष्ट संदेश देने में सफलता पायी है। उन्होंने आज खुद इसकी सवारी की। इसके बाद

से पटना की सड़कों पर आज से लोगों को इलेक्ट्रीक बस का आनंद मिलने लगेगा। बिहार

के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा यह अच्छी और एक नई पहल की शुरूआत की गई

है। सीएम नीतीश कुमार ने मंगलवार को विद्यापति भवन से नई बसों को हरी झंडी

दिखाई और फिर उसी बस में सवार होकर वह विधानसभा पहुंचे। इस दौरान उनके साथ

दोनों डिप्टी सीएम तार किशोर प्रसाद और रेणु देवी सहित बिहार सरकार के दूसरे मंत्री मैं

अशोक चौधरी, संजय झा भी मौजूद रहे। बस में सवार होकर विधानसभा पहुंचे सीएम

नीतीश कुमार ने इसे बिहार के लिए नई शुरूआत बताया। उन्होंने कहा कि बिहार में

इलेक्ट्रीक बसों के शुरू होने से मंहगे किराया देकर सफर से राहत मिलेगी, साथ ही बिहार

के वायु प्रदूषण को भी कम किया जा सकेगा। सीएम ने इस दौरान बस के सफर को बेहद

शानदार बताया।

बिहार परिवहन विभाग बिहार में 70 नई इलेक्ट्रीक बसों की शुरूआत 

बता दें कि बिहार परिवहन विभाग द्वारा मंगलवार से बिहार में 70 नई इलेक्ट्रीक बसों की

शुरूआत कर रही है, जिनमें मुजफ्फरपुर औ राजगीर तक चलाया जा रहा है। वहीं पटना में

भी लोग इन लग्जरी बसों के सफर का आनंद उठा सकेंगे।

परिचालन बिहार के 43 विभिन्न मार्गों पर किया जा रहा है। इन बसों का परिचालन शुरू

होने से राज्य के सभी 38 जिले से राजधानी की कनेक्टिविटी हो जाएगी। जिला व प्रखंड

मुख्यालय से राजधानी पटना का सफर काफी आसान हो जाएगा। पटना नगर बस सेवा

एवं बिहार के विभिन्न मार्गों पर मार्च के आखिरी सप्ताह तक कुल 25 इलेक्ट्रिक बसों का

परिचालन शुरू हो जाएगा। वर्तमान में 12 बसें निगम को प्राप्त हो चुकी हैं। इन बसों का

परिचालन पटना-राजगीर, पटना-मुजफ्फरपुर एवं पटना नगर सेवा के विभिन्न मार्गों पर

किया जाएगा। शेष बसें 15 मार्च तक प्राप्त हो जाएगी।

इलेक्ट्रीक बस वातानुकूलित एवं आधुनिक सुविधाओं से लैस हैं

सभी इलेक्ट्रिक बसें वातानुकूलित एवं आधुनिक सुविधाओं से लैस हैं। 9 मीटर की लंबाई

वाली 15 इलेक्ट्रिक बसें 37 सीटर, जबकि 12 मीटर लंबाई की 10 बसें 45 सीटर होंगी। बसों

के अंदर इमरजेंसी गेट एवं इमरजेंसी विंडो की भी सुविधा उपलब्ध है। इलेक्ट्रिक बसों को

चार्ज करने के लिए परिवहन परिसर फुलवारीशरीफ में कुल 1200 किलोवाट के चार्जिंग

स्टेशन बनाए गए हैं। इसमें 120 किलोवाट के 6 चार्जिंग प्वाइंट व 240 किलोवाट के दो

चार्जिंग प्वाइंट हैं। प्रतिदिन रात्रि में इलेक्ट्रिक बसें चार्ज किये जाने के बाद यहीं से खुलेंगी।

 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from नेताMore posts in नेता »
More from पर्यटन और यात्राMore posts in पर्यटन और यात्रा »
More from बिहारMore posts in बिहार »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: