fbpx Press "Enter" to skip to content

कल कारखानों को बेचने की बोली लगाई जा रही है: बीडी प्रसाद

  • 70 साल में खड़ी की गई सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियां

बोकारो: कल कारखानों को लेकर शनिवार को यूनियन कार्यालय में इस्पात मजदूर मोर्चा

सीटू द्वारा मजदूर-किसान प्रतिरोध दिवस के अवसर पर एक गोष्ठी का आयोजन किया

गया। अध्यक्षता कामेश्वर सिन्हा ने किया। गोष्ठी को संबोधित करते हुए संयुक्त

महामंत्री बीडी प्रसाद ने कहा कि मोदी सरकार की कारपोरेट परस्त नीतियां और किसान,

मजदूर, नौजवान और आम जनता विरोधी नीतियों के कारण आज देश आर्थिक सर्वनाश

के चौराहे पर खड़ी है।

स्थिति इतनी भयावह है कि विकास की बात तो छोड़ दीजिए आज सरकार के पास

कर्मचारियों को वेतन देने के लिए भी पैसे नहीं है। उन्होंने कहा कि 60 वर्ष के बजाय अब

55 वर्ष की उम्र में मजदूरों कर्मचारियों को नौकरी से सेवानिवृत्त करने की तैयारी कर ली

गई है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया अपना हाथ खड़ा कर दिया है। बड़े पूंजीपतियों की लूट के

कारण बैंक डूब रहा है। जीएसटी का राज्य सरकारों को हिस्सा देने के लिए केंद्र सरकार के

पास पैसा नहीं है। पैसे के लिए आज पिछले 70 साल में खड़ी की गई सार्वजनिक क्षेत्र की

कंपनियां, कल कारखानों को बेचने की बोली लगाई जा रही है। जीडीपी का दर माइनस

23।9 प्रतिशत हो गया है। बेरोजगारी चरम पर है।

कल कारखानों को कारपोरेटो के पक्ष में बदला जा रहा है

काम के घंटे को आठ घंटे से बढ़ाकर 12 घंटे किया जा रहा है। अब फिक्स्ड टर्म मजदूर

बहाल किए जा रहे हैं। स्थाई मजदूरों की बहाली बंद कर दी गई है। किसान विरोधी

अध्यादेश लाकर आवश्यक वस्तुओं और कृषि व्यापार का निगमीकरण कर दिया गया है।

किसानों की आय बढ़ने के बदले घटने लगी है। खेती- किसानी घाटे का सौदा बना दिया

गया है। स्वास्थ्य, शिक्षा व्यवस्था पूरे देश में ठप हो गया है। ऐसी स्थिति में मोदी सरकार

के मजदूर, किसान, आम जनता विरोधी नीतियों को  बदलने के लिए मजदूरों किसानों को

निर्णायक संघर्ष करने का समय आ गया है। कार्यक्रम  में के एन सिंह, आरके गोरांई,

आरएन सिंह, देव कुमार, शंकर पोद्दार, जीएन सिंह, एसके पासवान, पवन कुमार आदि ने

भी अपने विचार व्यक्त किए।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from बोकारोMore posts in बोकारो »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!