fbpx Press "Enter" to skip to content

भागलपुर के सृजन घोटाले के मास्टरमाइंड की संपत्ति जब्त

  • एनवी राजू की तीन जगहों की संपत्ति जब्त

  • कई वरीय अफसरों से रहे हैं मधुर संबंध

  • वकील केशव झा की महत्वपूर्ण भूमिका

प्रतिनिधि

भागलपुर: भागलपुर के सृजन घोटाले जो बिहार का सबसे बड़ा घोटाला है।

इस घोटाले में सबसे बड़े खिलाड़ी एनवी राजू जिसके तालुकात बिहार के कई

आईएएस और आईपीएस अधिकारी से मधुर रहे हैं। बैंक ऑफ बड़ौदा के

वकील केशव झा ने बताया कि एनवी राजू की संपत्ति जब्त करने के लिए

सारी कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के बाद यह कार्रवाई की गई है। वकील केशव

झा ने काफी मेहनत की है और इस पूरे मामले में वह स्वयं सशरीर उपस्थित

रहकर कई कार्यालय और सरकारी ऑफिस जाकर कागजी कार्रवाई जल्द पूरा

करने में उनकी अहम भूमिका रही है। नहीं तो ऐसे कई मामलों में देखा जाता

है कि आदेश होने के बाद भी संपत्ति जब्त की कार्रवाई वर्षों तक लंबित पड़ी

रहती है। वकील केशव झा ने दिन-रात मेहनत कर इस मामले को अपने

अंतिम मुकाम तक पहुंचाने में सफलता हासिल की है, इस बात से इंकार नहीं

किया जा सकता है।

कलिंगा सेल्स के मालिक हैं मास्टरमाइंड राजू

भागलपुर के चर्चित घोटाले में से एक सृजन घोटाले के आरोपी कलिंगा सेल्स

के मालिक राजू के संपत्ति को नीलाम करने के लिए पुलिस ने अपनी कार्रवाई

शुरू कर दी। बिहार के चर्चित घोटाले में से एक सृजन घोटाला में शनिवार को

सृजन घोटाला में फंसे कारोबारी कलिंगा सेल्स के मालिक एनवी राजू की तीन

जगहों की संपत्ति नीलाम करने को लेकर पुलिस की कार्रवाई शुरू हो गई है।

सदर एसडीओ आशीष नारायण ने तीन दंडाधिकारी को प्रतिनियुक्त किया है।

मत्स्य प्रसार पदाधिकारी गोपाल प्रसाद को दंडाधिकारी के रूप में नियुक्त

किया गया है। एनवी राजू ने बैंक ऑफ बड़ौदा से ऋण लिया था, जिसमें

जोगसर मौजा में 1440 वर्गफीट जमीन, ईश्वरी कंप्लेक्स में 1004 वर्गफीट की

दुकान और अध्यांती टावर में 1118.70 वर्गफीट की दुकान को बंधीकृत किया

था। ऋण नहीं चुकाने पर उसकी संपत्ति जब्त करने के लिए बैंक प्रबंधन के

अनुरोध पर कार्यवाही की जा रही है।

बैंक ऑफ बड़ौदा से कुल एक करोड़ 55 लाख का लोन था जो बढ़कर एक करोड़

88 लाख हो गया है। वहीं आपको बता दें कि सीबीआई ने अपनी जांच में सृजन

घोटाले में एनवी राजू को मुख्य साजिशकर्ता के रूप में शामिल किया था।

भागलपुर के इस घोटाले से कई अधिकारियों की उड़ी नींद

सृजन घोटाले के चतुर मास्टरमाइंड एनवी राजू पर धीरे-धीरे कार्रवाई मजबूत

होती देख कई आईएएस और आईपीएस अधिकारियों की नींद धीरे-धीरे उड़ने

लगी है। क्योंकि जिस तरह से एनबी राजू की संपत्ति को जब्त किया गया है।

क्योंकि अब आम लोगों यह मानने लगे हैं कि सृजन घोटाले में शामिल कई

आईएएस अधिकारियों पर विधानसभा चुनाव आते-आते बड़ी कार्रवाई होने

की पूरी संभावना है। एन वी राजू आईएएस और आईपीएस अधिकारियों को

हर प्रकार की कीमती चीजें उपलब्ध करवाने में महारत हासिल थी।

अब ऐसे आईएएस और आईपीएस अधिकारी अपने चहेते एनवी राजू की

संपत्ति जब्त होते हुए उनको दर्द तो महसूस हो रहा होगा, क्योंकि राजू से कई

अधिकारियों ने सुविधा ली है, इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from घोटालाMore posts in घोटाला »

One Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by